पहले घंटे में जिले के सात फीसदी लोगों ने किया मतदान


सुबह नौ बजे तक
चित्तौडगढ़. पिछले दो सप्ताह से चुनाव मैदान में मतदाताओं का मन जीतने में लगे जिले के पांच विधानसभा क्षेत्रों के पचास प्रत्याशियों का राजनीतिक भाग्य शुक्रवार को मतदान पूरा होते ही ईवीएम में सीज हो जाएगा। मतदान शुरु होने के बाद पहले एक घंटे में नौ बजे तक सात फीसदी मतदान हुआ, हालांकि उसके बाद धीरे-धीरे मतदान का आंकड़ा बटता जा रहा है। जिले में कई ईवीएम मशीन खबरा होने की शिकायत मिल रही है। सुबह नौ बजे तक कपासन व बड़ीसादडी में छह फीसदी, बेगूं, निम्बाहेड़ा व चित्तौड़ में सात फीसदी मतदान हुआ। पहली बार ईवीएम के साथ वीवीपेट मशीन का उपयोग भी जिले में किया जा रहा है। मतदान के बाद मतगणना 11 दिसम्बर सुबह 8 बजे से जिला मुख्यालय पर शहीद मेजर नटवरसिंह राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में होगी। जिले की कपासन, चित्तौडगढ़़ व निम्बाहेड़ा विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के मतदान दल गुरूवार को प्रशिक्षण प्राप्त करते ही तुरंत मतदान सामग्री प्राप्त कर गंतव्य के लिए रवाना हो गए। शाम तक सभी टीमे सम्बन्धित मतदान केन्द्रों पर पहुंच गई। जिले के बेगूं व बड़ीसादड़ी विधानसभा क्षेत्र के लिए मतदान दल बुुधवार को ही रवाना हो गए थे।

जिले में कई जगह घंटों देरी से शुरु हुआ मतदान
जिलेभर में मतदान सुबह आठ बजे से शुरु हो गए लेकिन जिले कई बूथों पर ईवीएम मशीन के खराब होने से घंटों तक मतदान शुरु नहीं हो पाया जिससे मतदाताओं को मतदान के इंतजार करना पड़ा। जिलामुख्यालय पर प्रतापनगर क्षेत्र में बने स्टेशन गल्र्स स्कूल में ईवीएम कराब होने से करीब आधे घंटे बाद मतदान शुरु हुआ। इसी तरह कपासन में बूथ संख्या १४५ पर ईवीएम खबरा होने से ४५ मिनिट देरी से मतदान शुरु हुआ। बूथ संख्या २१५ व २९५, बड़ीसादड़ी में बमन खेड़ी व निम्बाहेड़ा में बूथ संख्या ७५-७६ में भी ईवीएम खराब होने से करीब नौ बजे तक मतदान शुरु नहीं हो पाया।

................................
सर्वाधिक प्रत्याशी निम्बाहेड़ा में
जिले में पांच विधानसभा क्षेत्रों से पचास प्रत्याशी चुनाव मैदान में है। सर्वाधिक 13 प्रत्याशी निम्बाहेड़ा क्षेत्र से है तो सबसे कम 8-8 प्रत्याशी चित्तौडगढ़़ एवं बेगूं विधानसभा क्षेत्र से है। कपासन से 11 एवं बड़ीसादड़ी विधानसभा क्षेत्र से 10 प्रत्याशी चुनाव मैदान में है। जिले में चुनाव के लिए सर्वाधिक 321 मतदान केन्द्र बेगूं विधानसभा क्षेत्र में है तो सबसे कम 270 मतदान केन्द्र चित्तौडगढ़़ विधानसभा क्षेत्र में है। कपासन क्षेत्र से 311, बड़ीसादड़ी से 307 एवं निम्बाहेड़ा विधानसभा क्षेत्र में 294 मतदान केन्द्र बनाए गए है।
................................
कांग्रेस व भाजपा में सीधी टक्कर
जिले में पांचों विधानसभा क्षेत्रों में भाजपा व कांग्रेस प्रत्याशियों में सीधी टक्कर मानी जा रही है। इनमें से बेगूं, चित्तौडगढ़़ व निम्बाहेड़ा में कांग्रेस व भाजपा दोनों ने पिछले चुनाव के चेहरे ही मैदान में उतारे है तो बड़ीसादड़ी व कपासन में दो में से एक चेहरा बदल गया है। जिले में अनुसूचित जाति के लिए सुरक्षित एक मात्र कपासन सीट से रालोपा प्रत्याशी शांतिलाल धोबी मुकाबला त्रिकोणीय बनाने के लिए पूरा जोर लगाते दिखे। इनके अलावा बसपाए आपए माकपा जैैसे कई अन्य राजनीतिक दलों के प्रत्याशी भी चुनावी मैदान में है।
..................................
निम्बाहेड़ा बनी हॉट शीट
जिले में निम्बाहेड़ा सीट को राजस्थान की प्रमुख हॉट सीट में माना जा रहा है। यहां नगरीय विकास मंत्री श्रीचंद कृपलानी भाजपा से फिर प्रत्याशी है तो उनके सामने पूर्व सांसद उदयलाल आंजना कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में कड़ी चुनौती दे रहे है। यहां के परिणाम पर राज्य की नजर रहेगी। इसी तरह चित्तौडगढ़़ में भाजपा के चन्द्रभानसिंह एवं कांग्रेस के सुरेन्द्रसिंह जाड़ावतए कपासन में भाजपा के अर्जुनलाल जीनगर व कांग्रेस के आनंदीराम खटीकए बड़ीसादड़ी में भाजपा के ललित ओस्तवाल व कांग्रेस के प्रकाश चौधरी तथा बेगूं में भाजपा के सुरेश धाकड़ व कांग्रेस के राजेन्द्रसिंह विधुड़ी में कड़ी टक्कर की स्थिति है।
..........................
अंतिम दिन मतदाताओं से सम्पर्क में लगाया जोर
चुनाव प्रचार समाप्त होने के बाद गुरूवार को अंतिम दिन ढोल.नगाड़ो के साथ प्रचार नहीं हुआ लेकिन प्रत्याशियों ने पैदल ही व्यक्तिगत सम्पर्क पर जोर लगाया। चित्तौडगढ़़ सहित सभी विधानसभा क्षेत्रों में भाजपा व कांग्रेस प्रत्याशियों ने मतदाताओं के बीच पहुंच अंतिम क्षणों तक उनका विश्वास जीतने का प्रयास किया।
...................
नोटा को मिलने वाले मतों पर रहेगी नजर
जिले में राजनीतिक दलों की नजर ईवीएम में सबसे अंतिम पायदान पर नोटा के खाते में दर्ज होने वाले मतों पर भी रहेगी। मतदाता किसी प्रत्याशी को पसंद नहीं करने पर अपना मत नोटा को दे सकता है। पिछले विधानसभा चुनाव में चित्तौडगढ़़ए कपासन एवं बड़ीसादड़ी सीट पर भाजपा व कांग्रेस के बाद सर्वाधिक मत नोटा को मिले थे। निम्बाहेड़ा में चौथे एवं बेगूं में पांचवा स्थान नोटा को मिला था।