पत्रिका स्टिंग : नियम छोड़ो, ब्रांड बोलो, पैसे ज्यादा लगेंगे, पुलिस को भी देने है..

मोहम्मद इलियास/सिकन्दर पारीक/उदयपुर. आम दिनों में रात आठ बजे बाद शराब मिलने की शिकायतें आती रहती है लेकिन उदयपुर शहर में मतदान से दो दिन पूर्व भी धड़ल्ले से रात भर शराब की बिक्री चली। बेखौफ दुकानदार बोले, नियम छोड़ों, ब्रांड बोलो। एक बीयर बार संचालक ने कहा कि पैसे ज्यादा लगेंगे, हर शराब मिलेगी। हमें दो दिन ही कमाने को मिल रहे हैं क्योंकि यहां पुलिस वाले को 200 रुपए देने पड़ते हैं। कहने को तो चुनाव प्रचार थमने वाले दिन से मतदान होने तक ड्राई-डे घोषित है लेकिन बावजूद इसके बुधवार देर रात खुलेआम शहर में शराब बिकती रही। राजस्थान पत्रिका की टीम ने जब टोह ली तो सूरजपोल क्षेत्र में रात 11 बजे तक एक दुकान खुली मिली तो हाथीपोल पर तो एक खाकीवर्दीधारी दुकान के बाहर नजर आया। टीम को देखते ही वह दुकान बंद करवाने के बजाए वहां से खिसक लिया। कमोपेश यह हालत हाथीपोल, चेतक, प्रतापनगर क्षेत्र में भी देखने को मिली। हाइ-वे पर स्थित दुकानों पर तो कोई रोक-टोक करने वाला भी नहीं था। चुनाव में बल्क में माल उठने पर कई दुकानदारों ने दूसरे दुकानदारों से माल उठाया तो कुछ ने हरियाणा की दारू बेचकर पैसे कमाए।

READ MORE : Isha Ambani Wedding : शादी में दिखेगा राजस्थानी रंग, मंगाए गए विशेष इत्र-फुलेल, विशेष प्रशिक्षित गोताखोर भी आएंगे....

ऐसे मिले हालात

पुलिस को दूंगा 200 रुपए
यहां पर पत्रिका टीम ने दुकानदार से शराब मांगी तो उसने बोतल के 10 रुपए अधिक मांगे। ज्यादा पैसा लेने के बारे में पूछने पर दुकानदार झल्लाकर बोला 10 रुपए ही तो लिए है। अभी 200 रुपए पुलिस वाले को देने होंगे।
स्थान - सूरजपोल तोरणबावड़ी समय - रात 10.31 बजे


हरियाणा की दूंगा, चैक करवा लेना, मेरी गारंटी
स्थान - हाथीपोल, खटीकवाड़ा
समय - रात 10.40 बजे
शराब बेचने वाले तीन लोग गली के आगे ही खड़े थे। एक ऑर्डर ले रहा था तो दूसरा गली के अंदर जाकर लाकर दे रहा था। एक 100 मीटर की दूरी पर निगरानी कर रहा था। यहां विक्रेता के एक हाथ में पैसे की गड्डी थी तो पीछे से आने वाले उसके दूसरे साथी के हाथ में शराब की बोतले थी। पूछने पर उसने बताया कि जो मांगेंगे सब मिलेगी। इस ठेके के पास कई युवा खड़े थे तो कई गाड़ी से आते और लेकर चले जाते। खास बात यह कि इससे करीब 100 मीटर की दूरी पर ही एक पुलिस का जवान गली के अंदर की तरफ खड़ा था। पत्रिका टीम को देखते ही वह वहां से चलता बना। पत्रिका टीम ने जब पूछा कि कहीं हरियाणा की शराब तो नहीं, वह बोला- मेरी गारंटी- हो तो कल ठेके पर आकर बताना, गारंटी लेता हूं कि गलत नहीं दूंगा।

 

READ MORE : Isha Ambani Wedding : शाही शादी के लिए फिर सुर्खियों में लेकसिटी : मुकेश, नीता व अनंत अंबानी पहुंचे...


स्थान- ठोकर चौराहा
समय- रात करीब 11 बजे
अंडे की थड़ी लगाने वाले सेल्समैन ने तो अंडा व भुर्जी लेते ही पूछ लिया और क्या चाहिए। अपने यहां शराब भी है। पास ही गली में ले सकते हो, हर ब्रांड मौजूद है। 20 से 30 रुपए ज्यादा लगेंगे। धरपकड़ के बारे में पूछते ही बोल उठा खाकी भी अपने ही ग्राहक है। कभी भी चाहिए तो सामने बस्ती में आ जाना। इस क्षेत्र में चुनाव में घूमने वाले युवाओं की संख्या ज्यादा थी। देर रात उनकी हलचल कच्चीबस्ती क्षेत्र में भी देखी गई।

स्थान- प्रतापनगर चौराहा - सुखेर मार्ग
समय- रात करीब 10.15 बजे
यहां पर एक सेल्समैन ट्रक की आड़ में कर्टन लेकर बैठा था। शराब खत्म होने पर दुकान के पास ही बाउण्ड्री के पास से नया कर्टन लेकर आया। यहां पर आने वाले ग्राहकों को ठिकाना पता था, कुछ तो कोर्ड वर्ड में ही गाड़ी में बैठे-बैठे ही शराब लेकर निकल गए। ग्राहक द्वारा महंगी शराब मांगने पर दुकानदार यहां शटर उठाकर भी शराब निकाल
रहा है।

 

आज शाम 5 बजे से मतदान वाले दिन तक ड्राई-डे है। धरपकड़ के लिए दल गठित कर रहे है। सूचना मिलते ही वहां दबिश दी जा रही है। शराब मिलने की सूचना नहीं है। — दिनेश गहलोत, सहायक आबकारी अधिकारी