पत्थर मार महिला का बेरहमी से कुचला सिर, कार को पुलिया से धकेला

सरोदा (डूंगरपुर).

सागवाड़ा-साबला मुख्य मार्ग पर वमासा के निकट एक कार झाडियों में पलटी मिली। वहीं नदी में युवती की लाश मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई। शव के पास काफी मात्रा में खून बिखरा हुआ था वहीं कुछ हड्डियां भी पड़ी हुई थीं। पुलिया के दूसरे छोर पर खून से सना बड़ा सा पत्थर भी मिला। पुलिस ने प्रथम दृष्ट्या मामला हत्या का मान प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। फोरेंसिक टीम की मदद से मौके से साक्ष्य जुटाए गए हैं। मृतका की शिनाख्त साबला निवासी ऋचा उर्फ रिंकू (35) पुत्री रामप्रसाद शर्मा के रूप में हुई। शव का सागवाड़ा अस्पताल में पोस्टमार्टम करा परिजनों को सुपुर्द किया। मृतका आंगनवाड़ी केंद्र में कार्यरत है। उसकी एक बेटी भी है। परिवार में एक भाई व बहन हैं।


रात 11.30 बजे निकली थी घर से
प्रशिक्षु आरपीएस चक्रवर्तीसिंह ने बताया कि ऋचा की पूर्व में उदयपुर निवासी राजेश शर्मा से शादी हुई थी। पांच वर्ष पहले पारिवारिक कारणों से संबंध विच्छेद हो गया। इसके बाद वर्ष 2016 में कल्याण मुंबई हाल साबला निवासी परिक्षित शर्मा से विवाह किया। ऋचा रविवार रात करीब 11.30 बजे अपनी बेटी को घंटे भर में आने का कह कर कार लेकर निकली थी।

बहन ने की शिनाख्त
रविवार रात करीब दो बजे ग्रामीणों ने कण्डोला मोड नदी के पास कार झाडियों में अटकी होने की सूचना पर सागवाड़ा थानाधिकारी रामेश्वर भाटी, सरोदा चौकी प्रभारी नाथुलाल यादव मय जाप्ता मौके पर पहुंचे। पुलिया के नीचे महिला का शव पड़ा हुआ था। पुलिस ने शव को सागवाड़ा अस्पताल पहुंचाया। उधर, ऋचा के देर तक नहीं लौटने पर बेटी ने उदयपुर निवासी अपनी मौसी चारूलता को सूचना दी। इस पर चारूलता साबला पहुंची। वहां से सूचना मिलने पर सागवाड़ा अस्पताल पहुंचकर मृतका की शिनाख्त की।

फोरेंसिंक टीम ने जुटाए साक्ष्य
रात्रि में ग्रामीणों ने पुलिस को बताया कि दुर्घटनाग्रस्त कार कुछ समय पहले सही सलामत हालत में सडक़ किनारे खड़ी थी। इस पर पुलिस को आशंका हुई। सुबह बांसवाड़ा से फोरेंसिंक टीम बुलवाई गई। घटनास्थल के आसपास गहन पड़ताल करने पर खून से सना पत्थर मिला। चारूलता की रिपोर्ट पर पुलिस ने हत्या करने तथा दुर्घटना का रूप देकर साक्ष्य मिटाने का प्रयास करने का प्रकरण दर्ज कर लिया है।

12 बजे सडक़ किनारे खड़ी दिखी थी कार
घटनास्थल पर रात 12 बजे प्रत्यक्षदर्शियों ने कार को सडक़ किनारे खड़े देखा था। मेतवाला में चल रही रात्रिकालीन खेल प्रतियोगिता में भाग लेकर लौट रहे कुछ युवकों ने बताया कि रात करीब 12 बजे कार सडक़ किनारे खड़ी थी तथा उसके आगे एक मोटरसाइकिल भी थी। इसके बाद देर रात दो बजे मेतवाला से लौट रहे कुछ अन्य लोगों ने कार को पुलिया पर पलटी और झाडियों में अटकी हालत में देखा। इससे कार के दुर्घटनाग्रस्त होने की संभावना कम नजर आ रही है। लोगों का कहना है कि संभवतया कार को पुलिया से नीचे धकेला गया। स्पीड नहीं होने के कारण कार झाडियों में अटक गई।