नेता प्रतिपक्ष को ही कहां पर मनोनीत कर दिया सभापति


चित्तौडग़ढ़. एक दिन पहले तक नेता प्रतिपक्ष की भूमिका निभा रहे शहर के वार्ड-४० के कांग्रेस पार्षद संदीप शर्मा की भूमिका बुधवार को स्वायत शासन विभाग के एक आदेश से बदल गई। इसमें उनको नगर परिषद सभापति पद पर मनोनीत किया गया है। स्वायत शासन विभाग के निदेशक उज्जवल राठौड़ ने इस बारे में आदेश जारी किए। शर्मा को राज्य सरकार ने ६० दिन या सभापति के कार्यग्रहण करने तक जो भी पहले हो की अवधि के लिए इस पद पर मनोनीत किया है। माना जा रहा है इस अवधि में ही नगर परिषद के नए बोर्ड गठन के लिए चुनाव प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। शर्मा ने आदेश जारी होने के बाद शाम को ही परिषद पहुंच कार्यभार भी संभाल लिया। ये पद सभापति सुशील शर्मा एवं उप सभापति भरत जागेटिया को पद के दुरूपयोग के आरोप में स्वायत शासन विभाग द्वारा १३ सितम्बर को निलम्बित करने के बाद से रिक्त चल रहा था। परिषद आयुक्त नारायणलाल मीणा ने पदग्रहण से जुड़ी औपचारिकताएं पूरी कराई। इस मौके पर कांग्रेस कार्यकर्ता उत्साहित नजर आए। कांग्रेस जिलाध्यक्ष मांगीलाल धाकड़, शहर अध्यक्ष प्रेमप्रकाश मूंदड़ा, पूर्व पालिकाध्यक्ष रमेशनाथ योगी आदि पदाधिकारी व जनप्रतिनिधि भी मौजूद थे। शहर में ये पहला मौका माना जा रहा है जब किसी नेता प्रतिपक्ष को उसी कार्यकाल में सभापति के पद पर मनोनीत किया गया है।
सड़कों की दशा सुधारना पहली प्राथमिकता
कार्यभार संभालने के बाद सभापति शर्मा ने कहा कि उनकी प्राथमिकता शहर की सड़कों की दुर्दशा सुधाकर दीपावली तक सड़केंं ठीक करवाने, पशुधन को सड़कों से हटवाकर शिफ्ट करने तथा सफाई व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने की रहेगी। गुरूवार को शहर का दौरा कर सड़कों का जायजा लिया जाएगा। सफाई जमादारों की बैठक लेकर सफाई व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी। रोड़ लाइटें ठीक करवाने के साथ ही शहीद स्मारक में करीब डेढ सौ फीट तिरंगा लहराने के लिए स्वीकृति ली जाएगी, ताकि युवाओं में देशभक्ति का जज्बा और ज्यादा बढ सके।

पूर्व निकाय प्रमुखों ने भी दी शुभकामनाएं
संदीप शर्मा के पदभार ग्रहण करने पर वहां शुभकामनाएं देने के लिए पहुंचने वालों में पूर्व सभापति व पालिकाध्यक्ष भी शामिल थे। पूर्व सभापति गीतादेवी योगी, पूर्व पालिकाध्यक्ष आनंद सांदू, पूर्व प्रधान राजेश्वरी मीणा आदि भी शर्मा को बधाई देने परिषद परिसर में पहुंची।