निर्भया के दोषियों की अंतिम इच्छा

निर्भया के चारों दोषियों मुकेश सिंह, विनय शर्मा, अक्षय ठाकुर और पवन गुप्ता को आज शुक्रवार सुबह साढ़े 5 बजे फांसी दे दी गई। दोषियों में से एक मुकेश ने अपनी मौत से पहले अंगदान करने की इच्छा जताई है। दोषी विनय की इच्छा थी कि उसने जो पेंटिंग बनाई है वो उसके परिजनों को दे दी जाए। मुकेश और विनय ने बीती रात खाने में खिचड़ी खाई। वहीं पवन और अक्षय पूरी रात नहीं सोए। दोनों पुलिसकर्मियों से पूछते रहे कि क्या न्यायालय से कोई स्टे ऑर्डर आया है।
चारों दोषियों ने सुबह चाय पीने से इंकार कर दिया। फांसी से पहले दोषी विनय बहुत रोया और गिड़गिड़ाया और बाकी तीन अपराधी शांत और चिंता में दिखे। विनय कह रहा था, मैं मरना नहीं चाहता. वह फांसी से पहले बुरी तरह गिड़गिड़िया। उसने कहा, मुझे माफ कर दो… मुझे नहीं मरना। जमीन में लेटने लगा.
फांसी से पहले जब दोषियों को नहाने और कपड़े बदलने के लिए कहा गया, तो दोषी विनय ने कपड़े बदलने से इनकार कर दिया। विनय ने रोना शुरू कर दिया और माफी मांगने लगा। बता दें कि फांसी से पहले सुबह नए कपड़े पहनने को दिए जाते हैं। विनय ने नया कुर्ता-पैजामा पहनने से मना कर दिया। आज शुक्रवार सुबह आखिरी इच्छा पूछी गयी, कुछ चाहिए- पूजा करनी या कुछ और लेकिन चारों ने कोई जवाब नहीं दिया।