नाथद्वारा के पास दो माह पहले दिखा भालू अब नाथूवास में मिला मृत

नाथद्वारा. शहर के नाथूवास तालाब के पास क्षेत्र में स्थित एक खेत में गिरे बिजली के तारों की चपेट में आने से एक भालू की मौत हो गई। दूसरी और पैंथर ने निचली ओडन में बकरियों का शिकार कर लिया। Bear dies in Nathdwara
नाथूवास तालाब के पास से कॉलेज रोड जाने वाले मार्ग के पास स्थित खेत में एक व्यक्ति ने भालू को करंट से मरा हुआ देखा। इसके बाद उसने वन विभाग को सूचना दी, जिस पर वनकर्मी मौके पर पहुंचे व मृत भालू को अपने कब्जे में कर यहां से हल्दीघाटी लेकर गए, जहां पशु चिकित्सकों के द्वारा पोस्टमार्टम करने के बाद उसका अंतिम संस्कार किया गया। उधर, लोगों में चर्चा का विषय रहा कि बिजली के तार कब और किस कारण टूटे, जिससे यह हादसा हुआ एवं गनीमत रही कि इस दौरान कोई व्यक्ति खेत में नहीं था। इस बारे में बिजली निगम के सहायक अभियंता हेमंत चौधरी ने बताया कि संभवतया इंशूलेटर जल जाने के कारण रात्रि के समय तार टूट गए होंगे, जिससे भालू चपेट में आ गया। उल्लेखनीय है कि लगभग दो माह पूर्व क्षेत्र में भालू की हलचल पहली बार गिरिराज परिक्रमा में देखी गई थी, जिसके बाद कहीं पर भी इसकी आहट नहीं रही एवं अब जब दिखा तो उसकी करंट से मौत हो गई। उधर, शहर के समीप निचली ओडन क्षेत्र में गुरुवार देर रात्रि को किशनसिंह के बाड़े में बंधी तीन बकरियों को पैंथर ने शिकार बना लिया। घटना की जानकारी किशन के सुबह बाड़े में जाने के बाद लगी। इसके बाद उसके द्वारा वन विभाग को सूचना दी गई।

 

Bear dies in Nathdwara
इधर, घर में घुसा नौ फीट लंबा सांप, मची अफरातफरी
-गिलूण्ड में एक्सपर्ट ने पकड़ा सांप तब मिली लोगों को राहत

Bear dies in Nathdwara

रेलमगरा. क्षेत्र के गिलूण्ड कस्बे में एक मकान में करीब नौ फीट लंबा सांप घुस आने से पूरे मोहल्ले में अफरातफरी मच गई। बाद में एक्सपर्ट ने आकर सांप को पकड़ा, जिसके बाद लोगों ने राहत की सांस ली।
गिलूण्ड कस्बे के सुथार मोहल्ला में स्थित नारायण लाल सुथार के मकान में सांप को देख परिवार के लोग डर गए और घर से बाहर निकल गए। बाद में आसपास के लोगों ने सांप की काफी तलाश की, लेकिन पता नहीं लग पाया। बाद में ग्रामीणों ने राशमी निवासी स्नैक केचर पीयूष काम्बले को फोन पर सूचना दी। इस पर काम्बले शाम को गिलूण्ड में सुथार के घर पहुंचे और पांच मिनिट की तलाशी के बाद सांप को हाथों से पकड़ लिया। काम्बले द्वारा आसानी से पकड़े गए सांप के साथ ग्रामीणों में सेल्फ ी लेने की होड़ मच गई। बाद में काम्बले ने इस सांप को जंगल में छोड़ दिया। काम्बले ने बताया कि पकड़े गए सांप की लंबाई करीब नौ फीट थी एवं वह थाम्बड़ा प्रजाति का विष विहिन सांप था। काम्बले विगत करीब सात वर्षों से सांप को पकड़कर जंगल में छोडऩे का काम कर रहे हैं।

Bear dies due to current in Nathdwara