नहीं बनी बात, दूसरे दिन भी बंद रहा अरनोद,  अवैध हथियार जब्त करने और कलक्टर एसपी को मौके पर बुलाने पर अड़े आंदोलनकारी

- आज भी कस्बा रखेंगे बंद
-दोनों बाल अपचारी आए पुलिस की पकड़ में
अरनोद. कस्बे में दो दिन पहले गौतमेश्वर रोड पर एक ज्वैलर की दुकान के सामने हवाई फायरिंग कर दहशत फैलाने के मामले में गुरुवार को दूसरे दिन भी अरनोद बंद रहा। आंदोलनकारियों को समझाने के लिए उपखंड अधिकारी विजयेश पंड्या और पुलिस उपाधीक्षकगोवर्धन लाल खटीक धरनास्थल राजमहल चौक पर पहुंचे और बताया कि फायरिंग में लिप्त दोनों आरोपियों को पकड़ लिया गया है। दोनों नाबालिग है। लेकिन धरने पर बैठे लोग जिला कलक्टर और एसपी को मौके पर बुलाने पर अड़े रहे। आंदोलनकारियों ने चेतावनी दी कि जब तक दोनों आला अधिकारी यहां नहीं आ जाते और कुछ अन्य मांगे नहीं मान लेते। तब तक आंदोलन जारी रहेगा। इसके बाद उन्होंने शुक्रवार को भी कस्बा बंद रखने की घोषणा की। इस बीच अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अशोककुमार मीणा ने थाने में सीएलजी की बैठक ली। बैठक में सामने आई समस्याओं के समाधान का आश्वासन दिया।

कस्बे के राजमहल चौक में सभी कस्बेवासी एवं व्यापार मंडल के लोग अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे। गुरुवार को उपखंड अधिकारी विजयेश कुमार पंड्या एवं पुलिस उप अधीक्षक गोवर्धन लाल खटीक राज महल चौक धरना स्थल पर पहुंचे और बताया कि फायरिंग करने वाले दोनों नाबालिग अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्होंने व्यापार मंडल के सदस्यों से अरनोद के बाजार खोलने का कहा। लेकिन व्यापारीगण पुलिस अधीक्षक एवं जिला कलक्टर को धरना स्थल पर बुलाने और अवैध हथियार जब्त करने की कार्रवाई नहीं होने तक बाजार बंद रखने की बात पर अड़े रहे। पूरे दिन समझाइश का दौर चलता रहा।

सीएलजी बैठक : पुराने कस्बे में पुलिस चौकी स्थापित करने की मांग
दोपहर बाद तीन बजे थाने में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार मीणा ने सीएलजी सदस्यों की बैठक बुलाई। इसमें सदस्यों ने बच्चों के मोटरसाइकिल चलाने पर प्रतिबंध लगाने की मांग की। अरनोद में होमगार्ड जवान लगाने और कस्बे के पुराने इलाके में पुलिस चौकी स्थापित करने को कहा। इस पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार मीणा ने उचित कार्रवाई करने का आश्वासन दिया एवं इस केस को स्पेशल ऑफिसर स्कीम के तहत लेकर जांच करवाने का भरोसा दिया।
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मीणा ने कहा कि पुलिस अधीक्षक यहां नहीं हैं। उनकी ओर से मैं उपस्थित हूं एवं जिला कलेक्टर की तरफ से उपखंड अधिकारी पंड्या उपस्थित हैंं। इसलिए व्यापारियों को बाजार खोल देना चाहिए।
सोशल मीडिया पर कर रहे समरसता भंग
बैठक में सदस्यों ने कहा कि कुछ लोग सोशल मीडिया के माध्यम से सामाजिक समरसता भंग कर भडक़ाने वाली पोस्ट डाल रहे हैं। उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जानी चाहिए। इस पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मीणा ने कहा कि ऐसी किसी भी पोस्ट की सूचना तत्काल थानाधिकारी या मुझे भेज दें तो ऐसी पोस्ट करने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। शाम छह बजे तक समझाइश का दौर चलता रहा। लेकिन कोई कोई समाधान नहीं निकला।

इस पर शाम को व्यापार मंडल अध्यक्ष केशव लाल जैन के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल उपखंड अधिकारी विजयेश कुमार पंड्या से मिला और कहा कि धरना स्थल पर जब तक जिला कलक्टर अनुपमा जोरवाल नहीं आएंगी, तब तक अरनोद बंद रखा जाएगा।
-------------------------
डीवाईएसपी और आंदोलनकारियों में तनातनी
बातचीत के दौरान एक बार आंदोलनकारियों और पुलिस उपाधीक्षक खटीक में किसी बात को लेकर तनातनी की नौबत भी आ गई। आंदोलनकारियों का कहना था कि पुलिस उपाधीक्षक खटीक ने व्यापारियों के लिए कुछ धमकाने वाले अंदाज में बात कर रहे हैं।इस पर लोग नाराज हो गए और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। बाद में अन्य लोगों ने समझाइश कर मामला शांत कराया।