नवरात्र समापन पर निकाली शोभायात्रा, किया ज्वारा विसर्जन



चित्तौड़ जिले के आकोला क्षेत्र में स्थित ताणा पहाड़ पर स्थित प्रमुख शक्ति पीठ चामुंडा माता मंदिर में गुरुवार को अष्ठमी पर आस्था सैलाब उमड़ पड़ा। इस अवसर पर रावला चौक से चामुंडा माता मंदिर परिसर तक एक दिवसीय मेले का आयोजन भी किया गया। चामुण्डा मां की प्रतिमा का विशेष श्रृंगार व पूजा अर्चना व ज्वारा विसर्जन के साथ ही पिछले नौ दिनों से चल रहे नवरात्रा महोत्सव सम्पन्न हुआ। मंदिर परिसर में सुबह से ही धार्मिक अनुष्ठान हुए। रावला चौक में एक दिवसीय नवरात्रि मेलें में लोगों ने झूले-चकरी का आनन्द लिया। क्षेत्र के ताणा, कानडख़ेड़ा, आकोला, चाकुड़ी आदि स्थानों से श्रद्धालु मां के दरबार में पहुंचे।
जोगणियामाता. शारदीय नवरात्र के महानवमी पर्व पर गुरुवार को दोपहर 12 बजे जोगणियामाता के पुजारियों ने परम्परा अनुसार पाती का विसर्जन किया। पुजारी योगेशकुमार, काशीराम, किशनलाल, देवीलाल, रामलाल आदि ने जोगणिया माता को नवरात्रि के 9 दिनों में चढ़ाई पाती को लेकर जैसे ही निजी मंदिर से बाहर आए सैकड़ों भक्तों ने माता के जयकारे लगाए। बैंडबाजों के साथ पाती का विसर्जन मंदिर परिसर में बने कुंड में किया गया। यज्ञशाला में शतचंडी यज्ञ की पूर्णाहुति की गई। पाती विसर्जन व यज्ञ पूर्णाहुति के साथ ही नव दिवसीय नवरात्रा महोत्सव का समापन हो गया । बुधवार दुर्गाअष्टमी पर रातभर मंदिर खुला रहा। भक्तों ने रात्रि जागरण में भजन कीर्तन कर माता रानी का पूजन किया। रामलीला मैदान के रंगमंच पर रात्रि को भजन संध्या हुई। इसमें भीलवाड़ा, मांडलगढ़, चित्तौड़ व बेगू क्षेत्र के कई गायकों ने भजनों की प्रस्तुतियां दी। जोगणिया माता संस्थान के अध्यक्ष भंवरलाल जोशी ने नवरात्र महोत्सव में भाग लेने आए श्रद्धालुओं का आभार प्रकट किया।
बड़ीसादड़ी. नवरात्रि महोत्सव के समापन पर गुरुवार को सरस्वती यज्ञ के बाद झालामन्ना स्मारक से शोभायात्रा निकाली गई। पं. पीताम्बर प्रकाश पुरोहित ने दुर्गामाता मन्दिर पर यज्ञ सम्पन्न कराया। वहीं शोभायात्रा में बड़ी संख्या में विद्यार्थियों ने भाग लिया जो झालामन्ना स्मारक से मुख्य मार्गों से होकर राजमहल जाकर धर्मसभा में बदल गई। जहां विद्यार्थियों को पुरस्कृत किया गया। शोभायात्रा के मार्ग में जगह-जगह पुष्पवर्षा की गई और आरती उतारी गई।
निकुम्भ. पहाडी पर चंदामाता मंदीर परजय मां चंदा विकास संस्थान के तत्वावधान मे चल रहे डांडिया महोत्सव की धूम रही। गरबा महोत्सव मे बच्चों के मनोरंजन के लिए मिक्की माउस भी लगाया गया। गरबा महोत्सव का समापन 20 अक्टूबर को होगा। चंदा माता मंदिर परिसर में जय मां चंदा विकास संस्थान के तत्वावधान में प्रतिमा का विसर्जन शोभायात्रा के साथ किया जाएगा। दोपहर 2 बजे हिन्दू एकता रैली के तहत धर्मसभा में साध्वी सरस्वती सम्बोधित करेगी।
पहुंना. नवरात्रा पर्व का गुरुवार को नेजा यात्रा के साथ समापन किया गया। नेजायात्रा गाडरियावास से शुरू होकर खटीक मोहल्ला, जीनगर मोहल्ला, चावंडा माता शक्तिपीठ, नारसिह शक्तिपीठ, हनुमान मन्दिर होती हुी गुजरी। शक्तिपीटों पर बोये गए जवारों का बनास नदी में विसर्जन किया गया। नवरात्रा पर्व के समापन पर्व पर नेजायात्रा के साथ जवारा भी बनास नदी में विसर्जन किए गए। शक्तिपीठों पर पूजा-अर्चना की गई। भजन संध्याएं भी हुई।