नकबजनी व लूट गिरोह का पर्दाफाश, एक दर्जन से अधिक वारदातों का खुलासा, गिरोह के दो सदस्य गिरफ्तार

बागोर।

कारोही थाना पुलिस ने सोमवार को नकबजनी और लूट की वारदात को अंजाम देने वाले शातिर अपराधियों के गिरोह का पर्दाफाश किया। गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया, जबकि अन्य की तलाश की जा रही है। दोनों को बापर्दा रखा गया है। आरोपियों ने लूट और नकबजनी की एक दर्जन से अधिक वारदातों का खुलासा किया है। आरोपियों की निशानदेही पर करीब तीन लाख रुपए के सोने-चांदी के आभूषण बरामद किए गए हैं।

 

READ: इंद्र की मनुहार के लिए धामनिया बंद, सैंकड़ो ग्रामीण पदयात्रा के रूप में पहुंचे खानिया माता, मांगी अच्छी बारिश के साथ क्षेत्र में खुशहाली

 

पुलिस अधीक्षक डॉ. रामेश्वर सिंह के अनुसार जिले में बढ़ती नकबजनी और लूट की वारदातों की रोकथाम के लिए थाना पुलिस को सजग किया। कारोही थानाधिकारी रामकिशन गोदारा के नेतृत्व में विशेष टीम का गठन किया गया था। टीम ने अनुसंशान के बाद मोतीमंगरी थाना बिजयपुर के जगदीश कंजर व मण्डावरी (चित्तौडग़ढ़) के शिवलाल कंजर को गिरफ्तार किया। प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया कि आरोपियों ने भीलवाड़ा और चित्तौडग़ढ़ में एक दर्जन से अधिक वारदातों को अंजाम दिया। दोनों के खिलाफ चित्तौडग़ढ़ जिले के कई थानों में लूट और नकबजनी के मामले दर्ज हैं। आरोपी सुबह बाइक पर घूमकर रैकी करते थे और रात में वारदात को अंजाम देते थे।

 

READ: राजस्थान के इस शहर के अटल सेवा केंद्र में चोरी, नहीं छोड़े छोटे मोटे उपकरण भी

 

 

कुएं में मिला लापता महिला का शव

जित्यास गांव में लापता महिला का शव सोमवार को कुएं में मिला। कोटड़ी थाना पुलिस ने ग्रामीणों के सहयोग से शव बाहर निकाल कर पोस्टमार्टम कराया।
थानाधिकारी भंवरसिंह गौड़ ने बताया कि जित्यास की शायर (40) पत्नी ब्रह्मलाल जाट रविवार सुबह घर से मवेशी चराने गई। शाम को मवेशी घर आ गए जबकि शायर नहीं पहुंची। परिजनों ने तलाश की, लेकिन पता नहीं चला। इस बीच सोमवार को शव कुएं में मिला। माना जा रहा है मवेशियों के लिए पानी निकालते समय पैर फिसल जाने से कुएं में गिर गई।