दुकान में लगी भीषण आग, धुआं भरने से मचा हड़कंप



चित्तौडग़ढ़. शहर में बूंदी रोड स्थित गोराबादल स्टेडियम के पास कालिका बाजार में स्थित एक दुकान में आग लगने से लाखों रुपए का सामान राख हो गया। बाजार की अन्य दुकानों में भी कुछ नुकसान पहुंचा। आग लगने से आसपास के क्षेत्रों मेंं खलबली मच गई। आठ दमकलों ने करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद आग पर पूरी तरह काबू पाया। आग लगने के कारणों का अभी खुलासा नहीं हुआ लेकिन शार्ट सर्र्किट को कारण माना जा रहा है। कालिका बाजार में स्थित एक जुतों की दुकान में दोपहर करीब १२ बजे आग लग गई। आग लगने के बाद आसपास के दुकानदारों में हडकंप मच गया। एक दुकान में आग लगने के कॉम्पलेक्स में बने इस पूरे बाजार में धुआं ही धुआं हो गया। बाजार से धुआं उठते देख आसपास के क्षेत्रों में खलबली मच गई। आग लगने से केवल एक ही दुकान का सामान जला। आग की सूचना पर पहुंचे दुकान मालिक लादूलाल भाट धुएं में दम घुटने से अचेत हो गए।उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।दुकानदार भाट के अनुसार दुकान में दस लाख रुपए से अधिक कीमत के जूत-चप्पल रखे हुए थे।
वहीं फायर फाइटिंग के समय ज़हरीले धुंए के कारण तबियत बिगडऩे से नगर परिषद के फायरमैन भंवरसिंह को भी जिला अस्पताल ले जाना पड़ा। आग की सूचना पर पूर्व विधायक सुरेन्द्र जाड़ावत सहित कई जनप्रतिनिधि मौके पर पहुंचे। हालांकि इस मामले में कोतवाली में शाम तक रिपोर्ट नहीं दी गई। आग की सूचना पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विपिन शर्मा, शहर कोतवाली ओमप्रकाश सोलंकी, चंदेरिया थानाप्रभारी प्रशिक्षु डिप्टी अरविंद विश्नोई, तहसीलदार मोहनसिंह राजावत सहित पुलिस जाब्ता मौके पर पहुंचा।

सामान बचाने तोडऩे पड़े दुकानों के ताले
आग के बाद कालिका बाजार में धुआं ही धुआं हो गया। धुआं को देखते हुए अनुमान लगाया जा रहा था कि भीषण आग होगी लेकिन एक ही दुकान पूरी तरह चपेट में आई। अन्य दुकानों में सिर्फ धुआं घुस गया। कई दुकानों के ताले लगे होने से दुकानों के ताले तोड़कर धुआं बाहर निकाला गया। कालिका बाजार से उठते धुएं को देखते आसपास के दुकानदारों व नजदीक की बस्तियों में रहने वाले लोगों में चिंता रही।

आठ दमकलों ने पाया आग पर काबू
नगर परिषद की चार दमकल सहित हिंदुस्तान जि़ंक, बिड़ला सीमेंट वक्र्स व आदित्य सीमेंट की दमकलें भी मौके पर पहुंची। आठ दमकलों ने मिलकर करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।

बाजार के बाहर भीड़, यातायात किया डायवर्ट
आग की घटना के बाद कालिका बाजार के बाहर भीड़ जमा हो गई। धुएं को देखते हुए शहरवासी भी मौके पर पहुंची। जिससे बूदी रोड पर जाम लग गया। पुलिस को यातायात व्यवस्था को बनाए रखने के लिए वाहनों का मार्ग परिवर्तन करना पड़ा। सोशल मीडिया पर भी संदेश चलने से अन्य क्षेत्रों के लोग भी वहां आग का नजारा देखने के लिए पहुंच गए।