दिल्ली-मुंबई रेलमार्ग पर स्थित सुवासरा स्टेशन पर रेल सुविधाएं बढ़ाने पर कोई सुनवाई नहीं

सुवासरा:-दिल्ली-मुंबई रेलमार्ग पर स्थित सुवासरा स्टेशन जिला मुख्यालय का सबसे नजदीकी स्टेशन है। इसके अलावा आनंद धाम और परासली तीर्थ भी होने से यहां पर प्रमुख ट्रेनों के स्टॉपेज के साथ ही प्रमुख ट्रेनों में जनरल कोच बढ़ाने की मांग भी समय-समय पर की जा रही है, पर कोई सुनवाई नहीं हो रही है।

मप्र रेल यात्री महासंघ शाखा सुवासरा के हरीश गुप्ता ने बताया कि बांद्रा-देहरादून एक्सप्रेस में दो जनरल कोच बढ़ाने से हरिद्वार जाने वाले यात्रियों को सुविधा होगी। दिल्ली सराय रोहिल्ला-इंदौर इंटरसिटी एक्सप्रेस नया रेक लगाने के बाद से दो जनरल कोच कम कर दिए हैं। उन्हें वापस लगाकर यात्रियों को सुविधा दी जाए। महिला और विकलांग कोच भी हटा दिया है। भगत की कोठी-बिलासपुर और बीकानेर-बिलासपुर एक्सप्रेस का स्टॉपेज भी सुवासरा में दिया जाए। सुवासरा के पास ही आनंद धाम तीर्थ और परासली जैन तीर्थ हैं। यहां से सैकड़ों यात्री प्रतिमाह दर्शनार्थ आते हैं। सुवासरा से प्रतिदिन लगभग 1200 यात्री आते-जाते हैं। स्टेशन पर सफाई के लिए वर्षों से एक ही स्वीपर है, जबकि रेलवे स्टेशन के कम से कम दो होना जरूरी है। टिकिट बुकिंग क्लर्क भी एक ही होने से एक टिकट खिड़की पर रिजर्वेशन, टिकट और पार्सल बुक होती है। इससे यात्रियों को भी असुविधा होती है। सुबह 8 से शाम 8 तक 12 घंटे तक एक ही बुकिंग क्लर्क कार्य करता है। यहां बुकिंग उसके स्थान पर एक और बुकिंग क्लर्क नियुक्त किया जाए। सुबह 6-7 बजे तक बुकिंग क्लर्क का कार्य स्टेशन अधीक्षक करते हैं।

व्हाट्सएप्प (WhatsApp) पर शेयर करें