दरोगा व लेखापाल पर लगाया परेशान करने का आरोप लगाकर नपकर्मी ने जहरीला पदार्थ पीया

 

मंदसौर.
नगर परिषद् में कार्यरत सफ ाई कर्मचारी अनिल पिता कैलाश राठौर ने गुरुवार को नप में पदस्थ दरोगा व लेखापाल से विवाद का कारण बताकर जहरीला पदार्थ खा लिया। इसके बाद आक्रोशित परिजनों ने नगर परिषद् कार्यालय में घुसकर पत्थरों से तोडफ़ ोड़ की। सूचना पर पुलिस पहुंची व पंचनामा बनाया। विषाक्त पदार्थ खानेे वाले कर्मचारी को मंदसौर जिला अस्पताल में भर्ती कराया।
जानकारी के अनुसार यहां हरिजन मोहल्ला निवासी अनिल पिता कैलाश राठौर उम्र २७ ने दोपहर 12.30 बजे करीब नगर परिषद् कार्यालय में जहरीला पदार्थ खा लिया व घर पहुंच गया। अनिल के भाई अजय ने बताया कि अनिल विषाक्त पदार्थ खाने के बाद घर पहुंचा। चक्कर आने पर पत्नी रानी उसे अस्पताल ले जा रही थी। इसी दौरान उसने घर पर इसकी सूचना दी कि नगर परिषद् में दरौगा व लेखापाल से विवाद के चलते अनिल ने कीटनाशक पीया है। उसे मंदसौर जिला अस्पताल भर्ती कराया।
नगर परिषद् में की तोडफ़ ोड़
कीटनाशक पीने की घटना से आक्रोशित अनिल के परिजनों ने नगर परिषद् कार्यालय पहुंच हंगामा किया। यहां कुर्सियां, टेबल, एलसीडी, प्रिंटर, सीपीयू, कांच आदि तोड.-फोड़ दिए। करीब बीस मिनट तक तोड़.फोड़ के बाद पुलिस मौके पहुंची। तब तक तोड़.फोड़ करने वाले निकल चुके थे। बाद में पुलिस ने पंचनामा बनाया।
सफाई के पद पर था कार्यरत, कुछ दिनों से ऑफिस में था अटैच
जानकारी के अनुसार अनिल सफ ाई कर्मचारी के रुप में कार्यरत था। लेकिन दरौगा से विवाद के बाद उसे करीब एक माह से नगर परिषद् कार्यालय में अटेच किया था। लेकिन गुरुवार को उसने अचानक जहरीला पदार्थ खा लिया।
इनका कहना.
विषाक्त पीने वाले कर्मचारी अनिल ने पुलिस को दिए बयान में बताया मुझे स्वच्छता पर्यवेक्षक दरौगा मुकेश राठौर व लेखापालद्ध चन्द्रप्रकाश अग्रवाल रोज परेशान करते है। इसी कारण कीटनाशक पीया।
दरौगा मुकेश राठौर का कहना है पिछले एक माह से मैंने अनिल को कोई कार्य नही बताया। नप में मेरी शिकायत करने के बाद उसे कार्यालय में ही अटैच कर रखा है। अभी भी मरीज को लेकर अहमदाबाद में हंू।
लेखापाल चन्द्रप्रकाश अग्रवाल का कहना है मेरा उक्त घटनाक्रम से मेरा कोई लेना-देना नहीं है। मैंने अनिल को परेशान नहीं किया है। मेरा उससे कोई विवाद भी नही हुआए। आरोप गलत है।
सीएमओ नाहरसिंह यादव ने बताया करीब एक दर्जन महिला-पुरुष ने नप में घुसकर तोडफ़ ोड़ की। पुलिस को सीसीटीवी फुटेज उपलब्ध करा दिए है व शिकायत दर्ज कराई है। कर्मचारी ने जहर खाया मुझे इसकी जानकारी नहीं।
नगर परिषद् अध्यक्ष राजेन्द्र भारद्वाज का कहना है जो भी हुआ गलत है। अनिल के परिजनों ने तोडफ़ोड़ की है। इसको लेकर थाने में शिकायत दर्ज कराई है।
मामले की जांच कर रहे पुलिस चौकी एएसआई एमएल वर्मा ने बताया अस्पताल में भर्ती अनिल के बयान लिए है। जिसमें उसने दरौगा व लेखापाल द्वारा परेशान होने की बात कही है। फिलहाल मामला जांच में है। विवेचना के बाद शीघ्र कार्रवाई की जाएगी।
.......................