त्योहारों के सीजन में रोडवेज का एक आदेश देगा खुशी, दूसरा बढ़ा सकता है तकलीफ, यात्रियों से होगा मधुर व्यवहार लेकिन कुछ बसें होंगी बंद

बांसवाड़ा. राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम ने हाल ही में दो आदेश जारी किए हैं। इसमें एक में यात्रियों की सहूलियत और सम्मान का ख्याल रखा गया है, लेकिन दूसरा फरमान रोज बस में सफर करने वालों की दिक्कत बढ़ा सकता है। निगम अधिकारियों की ओर से जारी आदेश में स्पष्ट किया गया है कि बसों में सफर करने वाले यात्रियों से कंडक्टर अच्छे से बात करेंगे और उनका मार्गदर्शन करेंगे। दूसरी ओर उन बसों को बंद करने के आदेश दिए गए हैं जो 20 रुपए प्रति किमी से कम आय दे रही हैं। निगम के एक आदेश के तहतं जब भी कोई बस आगार से यात्रियों को लेकर रवाना होगी तो उससे पहले कंडक्टर सभी यात्रियों को स्वयं का परिचय देते हुए यात्रा और रूट की जानकारी देगा। इसके अलावा कंडक्टर यात्रियों से नर्म और अच्छा बर्ताव करेंगे। ऐसा न करने वाले कंडक्टर की शिकायत बस में अंकित की गई हेल्पलाइन नंबर पर की जा सकती है।

आदेश यह देगा दिक्कत, चार गाडिय़ों के थमे पहिए : - निगम का दूसरा आदेश यात्रियों के आगे दिक्कत खड़ी करेगा। दरअसल, आदेश के तहत उन बसों को बंद करने का फरमान दिया गया है जिनकी आय 20 रुपए प्रति किमी से कम पड़ रही है। निगम के इस आदेश के तहत बांसवाड़ा आगार में चार गाडिय़ों पर फर्क पड़ा है। इनमें से वापी, ओंकारेश्वर और अरथूना की ओर जाने वाली गाडिय़ों को बंद किया गया है। बांसवाड़ा आगार मुख्य प्रबंधक रवि कुमार मेहरा ने बताया कि सूरत रूट की गाड़़ी को दीपावली तक चलाया जाएगा, चूंकि इन दिनों सूरत से कई लोग घरों में दिवाली मनाने आते हैं। पर्व के बाद उस गाड़ी को भी बंद कर दिया जाएगा।