तीन बेटियों ने बच्चों को सुझाई सफलता की राह

तीन बेटियों ने बच्चों को सुझाई सफलता की राह

डूंगरपुर. शहर के इतिहास में पहली बार शक्ति आराधना के महापर्व तीन देवी स्वरुपा बेटियों ने बच्चों को सकारात्मकता के साथ अपने लक्ष्य के प्रति बढऩे का संदेश दिया। अवसर था पीपी एजुकेशन सोसायटी और रोटरी क्लब के सांझे में विजयाराजे सिंधिया ऑडिटोरियम में मोटिवेशन सेमीनार का।
सेमीनार में विश्व की सबसे कम उम्र की मोटिवेशनल स्पीकर और गायिका जाह्ववी पण्ड्या, टीवी सीरियल ससुराल सिमर का में परी का किरदार निभाने वाले श्वेता सिन्हा और बॉलीवुड की फैशन स्टाईलिश आकांक्षा कपूर शहर के स्कूली बच्चों और अभिभावकों से रूबरू हुई।
‘कोशिश कभी मत छोड़ो’
टीवी अदाकारा श्वेता सिन्हा ने कहा कि अपने सपनों पर विश्वास रखो और दृढ़ निश्चय के साथ कोशिश करो, तो सफलता हर हाल में मिलती है। उन्होंने पेरेंट्स से अपील की कि बच्चों पर अपने सपने मत थोपो। बच्चे के हूनर को पहचान कर उसे आगे बढऩे के लिए सपोर्ट करो।
‘खुद को पहचानो’
फेशन स्टाइलिश आकांक्षा कपूर ने बच्चों से संवाद करते हुए कहा कि हर व्यक्ति में एक टेलेंट है। खुद के टेलेंट को पहचानो और उस दिशा में आगे बढ़ो। उन्होंने खुद का उदाहरण देते हुए कहा कि मुकाम तक पहुंचने से पहले कई सपने देखे और बदले। तब कहीं जाकर खुद के बारे में जान सकी और राह चुन सकी। उन्होंने फेशन, आर्ट आदि क्षेत्रों में केरियर संभावनाओं के बारे में भी बताया।
एक भी प्रतिभा निखरी तो समझेंगे प्रयास सफल
प्रारंभ में पीपी एजुकेशन सोसायटी और रोटरी क्लब टीम ने तीनों अतिथियों का स्वागत किया। रोटरी अध्यक्ष अनिल पटेल ने स्वागत उद्बोधन देते हुए क्लब के कार्यक्रमों की जानकारी दी। सोसायटी के प्रकाश पंचाल ने कहा कि हमारा प्रयास डूंगरपुर के सहशैक्षिक माहौल में बदलाव लाना तथा यहां की प्रतिभाओं को जायज मुकाम तक पहुंचाना है।
एक भी प्रतिभा निखरती है तो इन प्रयासों को सफल मानेंगे। विक्रम माखीजा ने सोसायटी की ओर से किए जा रहे प्रयासों से रूबरू कराया। संचालन रोटरी क्लब के गिरीश आर. पण्ड्या ने किया। कार्यक्रम के शहर के कई गणमान्य नागरिक तथा विभिन्न स्कूलों के बच्चे शामिल हुए।
बातों बातों में बताई काम की बातें
देश-विदेश में मोटिवेशनल गुरू के रूप में पहचान बना चुकी जाह्ववी ने बच्चों को बातों बातों में कई काम की बातें बताई और जीवन में सफलता के लिए कई टिप भी दिए। उन्होंने बॉडी लेग्वेंज का महत्व बताते हुए उसे भी समझने की जरूरत बताई। श्रीमद् भगवत गीता का अंग्रेजी में अनुवाद कर उसे देश-विदेश में गाने वाली जाह्नवी ने गीता के उद्धरणों के माध्यम से सकारात्मक सोच रखने का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि अगर आपके हौंसले बुलंद हैं और मन में विश्वास है तो कोई भी मंजिल नामुमकिन नहीं है।