तालाब के पानी में झाडिय़ों में फंसा मिला बालक का शव

चित्तौडग़ढ़ जिले के सोनियाणा. गांव के तालाब में भैंसों को पानी पिलाने के दौरान डूबे बालक का शव शनिवार सुबह काफी मशक्कत के बाद बाहर निकाला गया। बालक शव तालाब में झाडिय़ों में फंसा मिला।
पुलिस ने बताया कि सुरपुर गांव में शुक्रवार शाम 4 बजे मुकेश जाट (12) पुत्र नाथू जाट भैसों को पानी पिलाने के लिए आईटी सेन्टर के पास स्थित तालाब में गया था। उन्हें बाहर निकालने के दौरान वह पानी में डूब गया। जहां वो पानी में डुब गया। सूचना पर बड़ी संख्या में ग्रामीण एकत्र हो गए। चित्तौडगढ सिविल डिफेन्स के गोताखोरों ने शुक्रवार देर रात तक बालक को ढूढने का प्रयास किया। अंधेरा होने के कारण रेस्क्यू बंद कर दिया गया। शनिवार सुबह 7 बजे आठ गोताखोरों ने फिर से तलाश शुरू की। करीब दो घंटो बाद बालक का शव तालाब में झाडिय़ों के पास मिल गया। शव को बाहर निकाला गया। पुलिस ने बताया कि मुकेश कक्षा पांचवी कक्षा में अध्ययन करता था। शव मिलने के बाद परिजनों में कोहराम मच गया। सुरपुर गांव में शोक की नहर डूब गई।
गोताखोरों के दल में नारायण लाल भोई, रतनलाल, चैनराम कीर, विक्रम नारायण कीर, हेमन्त भोई, रतन भोई, राजकुमार भोई आदि शामिल थे। इस मौक पर ग्राम विकास अधिकारी रामेश्वर लाल जाट, सरपंच सीमा जाट, पटवारी गिरधारी लाल खटीक आदि मौजूद थे।