तबादलों से नाखुश शिक्षक संघटन ने जताई नाराजगी

उदयपुर. हाल ही में प्रदेश स्तर पर हुए शिक्षकों के तबादलों को नियम विरुद्ध बताते हुए राजस्थान शिक्षक संघ (राष्ट्रीय) ने वर्तमान सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। संगठन पदाधिकारियों ने मामले में नाराजगी जताते हुए मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री को ज्ञापन सौपा। साथ ही आगामी दिनों में व्यवस्था सुधार के लिए आवश्यक कदम उठाने की मांग की। इससे पहले जिला कार्यालय में संगठन के जिला स्तरीय पदाधिकारियों की बैठक जिलाध्यक्ष जसवंत सिंह पंवार, जिला मंत्री चंदनमल बागड़ी, राजकमल लौहार, अभय सिंह राठौड़, पुरुषोत्तम दवे, बसन्तीलाल श्रीमाली, चन्द्रप्रकाश मेहता, पारस जैन, दिनेश पालीवाल, श्यामलाल व्यास की उपस्थिति में हुई। जिलामंत्री बागड़ी ने कहा कि सरकार शिक्षकों को प्रताडि़त करने की मंशा से स्थानांतरण कर रही है। परीक्षा समय में दबाव बनाकर बिना योग काल दिए हुए शिक्षकों को जबरन कार्यमुक्त किया जा रहा है। जिलाध्यक्ष पंवार ने इस तबादला नीति को कुंठित मंशा का पर्याय बताया। प्रदेश पदाधिकारी एवं पूर्व जिला मंत्री चन्द्रप्रकाश मेहता ने जिले मे शिक्षकों के पदों की स्थिति से अवगत कराते हुए बताया कि 2018 रिशफल परिणाम के बाद जिले में लेवल-2 के अन्य जिलों से रिलीव होकर आए 109 तथा 207 नव चयनित शिक्षकों की काउन्सलिंग हो चुकी है, मगर लोकसभा चुनाव के कारण आचार संहिता लग जाने से पदस्थान आदेश जारी नहीं हो पाए हैं। अत: छात्र हित को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार चुनाव आयोग की सहमति लेकर पदस्थापन जारी करा राहत प्रदान करावें ।