ढाई किलोमीटर कीचड़ भरे मार्ग से पहुंचे महादेव के दर्शन करने

मंदसौर..
हरियाली अमावस्या पर गरोठ क्षेत्र के प्राचीन धर्मस्थलों पर जनसैलाब उमड़ पड़ा।क्षेत्र के प्राचीन मलकाना महादेव मंदिर पर पहुंचने के लिए श्रद्धालुओं की आस्था परेशानियों पर भारी पड़ गई।ढाई किलोमीटर लंबे कच्चे रास्ते से होकर श्रद्धालु भगवान महादेव के दर्शन के लिए पहुंचे।मलकाना में हरियाली अमावस्या पर भव्य मेले का भी आयोजन किया गया सुबह से लेकर देर शाम तक श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। इसी प्रकार क्षेत्र के प्राचीन व पुरातत्व स्थल पोलाडूंगर महादेव मंदिर पर भी श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा जहां भी हजारों श्रद्धालुओं ने भगवान महादेव के दर्शन कर धर्म लाभ लिया।
क्षेत्र के ग्राम खड़ावदा के समीप स्थित प्राचीन नाथ संप्रदाय के स्थान मलकाना महादेव में हरियाली अमावस्या के अवसर पर मेला लगा। मेले में आसपास के ग्रामीण अंचलों से हजारों की संख्या में धर्मालूजनों ने पहुंचकर भगवान शंकर की पूजा अर्चना की। क्षेत्रवासियों के अनुसार अति प्राचीन स्थल के प्रति क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों की लगातार अनदेखी के कारण मलकाना महादेव अभी तक सड़क से नहीं जुड़ पाया है। जिसके कारण सेमरोल से मलकाना स्थान तक ढाई किलो मीटर तक लंबे मार्ग को श्रद्धालुओं ने कीचड़ में होकर आना जाना किया।
कोटडाबुजुर्ग के समीप पोलाडोंगर महादेव मंदिर में भी हजारों की संख्या में दर्शन करने श्रद्धालू पहुंचे। यहां अति प्राचीन 8 फुट का शिवलिंग व शैलकालीन गुफ ाए भी है। शिवरात्रि तथा हरियाली अमावस्या पर यहां श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ता है