झगड़ा करने पर परिजन थाने पहुंचे तो पीछे से युवक का हौज में मिला शव, युवक को कमरे में बंद कर गए थे परिजन

मो. इल‍ियास/उदयपुर. प्रतापनगर थानाक्षेत्र के साकरोदा में मंगलवार को एक युवक का उसका घर के बाहर हौज में संदिग्ध हालत में शव मिला। युवक को परिजनों ने सोमवार रात को नशे में झगड़ा करने कमरे में बंद किया था, वे उसके खिलाफ कार्रवाई के लिए थाने पहुंचे तब उसने बाहर निकलने के लिए छटपटाते हुए कमरे में लगी कांच की खिडक़ी को तोड़ दी, कांच उसके हाथों में लगने से नस कट गई और कमरे में खून ही खून हो गया। परिजनों के पहुंचने से पहले वह बाहर निकलकर अंधेरे में गायब हो गया और सुबह उसका हौज में शव मिला। एफएसएल टीम ने मौके से आवश्यक साक्ष्य जुटाए।

थानाधिकारी डॉ. हनवंत सिंह ने बताया कि साकरोदा पाड़ा खादरा निवासी इन्दरसिंह पुत्र मोहनसिंह का दोपहर बाद मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करा शव परिजनों के सुपुर्द किया। प्रारंभिक जांच में मृतक की अत्यधिक रक्तस्त्राव से मौत होना सामने आया है। हाथ धोने के दौरान ही खाली हौज में गिरने मौके पर साक्ष्य मिले हैंं।

 

परिजनों ने किया कमरे में बंद

पुलिस ने बताया कि मोहनसिंह के भैरूसिंह, महेन्द्र, चेनङ्क्षसह व इन्दरसिंह चार बेटे है। महेन्द्र व चेनसिंह मुंबई में काम करते है। भैरूसिंह सोमवार को अपने ननिहाल गया हुआ था। रात को उसके सबसे छोटे अविवाहित भाई इन्दरङ्क्षसह ने भाभी मेहताब कुंवर से नशे की हालत में झगड़ा किया। देवराणी रेखा कुंवर व विष्णु कुंवर बीचबचाव किया तो उसने उनसे भी अभद्रता की। उसी समय बड़ा भाई भैरूसिंह भी घर लौट आया। इन्दरसिंह के घर में तोडफ़ोड़ करने पर सभी ने उसे कमरे में बंद कर दिया और वे उसके खिलाफ कार्रवाई को लेकर प्रतापनगर थाने पहुंच गए।

 

READ MORE :

 

कांच की खिडक़ी तोडऩे से कटी नस

जांच में आया कि घर में लाइट का कनेक्शन नहीं था। अंधेरे में रात को कमरे में बंद करने के बाद इन्दरसिंह ने बाहर निकलने के लिए कांच की खिडक़ी को तोड़ दी। कांच उसके हाथ में लगने से नस कट गई और कमरे में खून ही खून फैल गया। काफी हंगामा होने पर कुछ देर बाद पिता मोहनसिंह ने कमरे का दरवाजा खोल दिया, बाहर निकलने के कुछ देर बाद इन्दरसिंह गायब हो गया। इस बीच परिजन घर पहुंचे। इन्दरसिंह के नहीं मिलने व कमरे में खून मिलने पर उन्होंने पुलिस को बताया। पुलिस रात को ड्रेगन लाइट लेकर मौके पर पहुंची। पुलिस ने घटनास्थल के आसपास के क्षेत्र को खंगालने के साथ ही पिता से भी पूछताछ की तो वह कुछ नहीं बता पाया। खून निकलने से पुलिस ने देबारी, जिंक, साकरोदा व एमबी चिकित्सालय में भी इन्दरसिंह का पता करवाया लेकिन वह नहीं मिला।

 

सुबह हौज में मिला शव

सुबह परिजनों को खून के छींटे कमरे के अलावा बाहर हौज तक मिलने पर उन्होंने झांका तो शव पड़ा मिला। हौज पूरा खाली होकर पैंदे में थोड़ा सा पानी था। पुलिस ने एफएसएल टीम को मौके पर बुलाया। टीम ने वहां से आवश्यक साक्ष्य जुटाए। पुलिस का कहना है कि इन्दरङ्क्षसह को नशे में होने से कांच लगने के बाद भी उसे पता नहीं चला। वह संभवत: हाथ धोने के लिए हौज के पास गया तभी गिर गया। रात को अंधेरा होने से किसी को पता नहीं चल पाया।