जून के बाद अब नवम्बर में सावे

भीलवाड़ा
लॉकडाउन से दिहाड़ी मजदूरों को आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़ा, वहीं कुछ घरों में पहले से तय शादियां भी अटक गई। अब छूट मिलते ही लोग शादी समारोहों की अगली तारीखें देखने में लग गए हैं। लोग जून में नए मुहूर्त निकलवा रहे हैं। जून के बाद नवम्बर व दिसम्बर में सावे हैं। इसके बाद पुन: अप्रेल में सावे है।
अचानक से लॉकडाउन लगते ही लोगों की पहले से निर्धारित व्यवस्थाएं डगमगा गई थी। लोग घरों की रंगाई-पुताई सहित विभिन्न तैयारियों में जुट गए। घोड़ी, बाजा, गाड़ी, हलवाई, टैंट व मैरिज हॉल बुक करवा दिए थे।
धूमधड़ाके से करेंगे शादी, इसलिए टाली
आरके कॉलोनी के एमएल जैन ने बताया कि लड़के की शादी २ अप्रेल को निर्धारित की थी। वधू पक्ष दूदू से आन था। लोगों ने राय दी कि प्रशासन से अनुमति लेकर शादी समारोह कर लिया जाए। प्रशासन पांच-दस लोगों के ही शामिल होने की इजाजत दे रहा था, हम धूमधाम से शादी करना चाहते हैं। अब जल्द ही सावे निकलवाने लगे है। विजयङ्क्षसह पथिकनगर के राधेश्याम शर्मा ने बेटी की शादी 7 मई की तय की थी। बारात जयपुर से आनी थी। घोड़ी, बाजा व टेंट सब बुक करवाए लिए थे, मई तक लॉकडाउन खुल जाएगा मगर ऐसा नहीं हुआ। अब फिर से तैयारी कर रहे है।
निमंत्रण तक बांट दिए
बिजौलिया के सत्येंद्रकुमार जैन के लड़के जितेंद्र की बारात 2 अप्रेल को नीमच के पास जानी थी। निमंत्रण पत्र बांटे जा चुके थे। लॉकडाउन के कारण शादी स्थगित करनी पड़ी। इसी तरह आजादनगर के राकेश कुमार ने बताया कि उसके भतीजे की शादी 14 अप्रेल को होनी थी। शादी के लिए वह दो माह पहले जयपुर से घर आया था। बारात सीकर जानी थी। अग्रिम बुकिंग की चुकी थी। लॉकडाउन से सारी तैयारियों पर पानी फिर गया।