जिला दुग्ध वितरक संघ की बैठक सम्पन्न

मेवाड़ किरण @ नीमच -

जिला दुग्ध संघ की बैठक आज सुबह 11 से दोपहर 1 बजे तक मैराथन चली। बैठक में खल, कपास्या में मिलावट के प्रति विक्रेताओं को आक्रोष छलका। विक्रेताओं ने बताया कि नीमच शहर के बाजारों में खल, कपास, चुरी में मिलावट से वह बहुत महंगी पड़ रही है। इस वजह से अब दुध वर्तमान भावों में बैचना नुकसान का सौदा है। सभी ने एक मत होकर कहा कि खल, कपास्या, चुरी में मिलावट के खिलाफ सभी संगठित होकर को खल, कपास्या विक्रेताओं के खिलाफ जिला कलेक्टर एवं सम्बंधित विभाग को ज्ञापन देकर मिलावट बंद कर शुद्ध खल, कपास्या बिक्री की मांग करेंगे। दुग्ध विक्रेताओं ने एक मत होकर सामुहिक रूप से कहा कि 60 किलो पैंकिग मोहन भोग खल की बोरी में भर्ती 58 किलो ही आ रही है। उसमें 20 प्रतिशत लकड़ी का बुरा, गत्ता आदि साम्रगी की मिलावट आ रही है जो पानी डालते ही सामने दिखाई देती है साथ ही मोहन भोग कपास 50 मिलो पैंकिग की बोरी में 2 किलो लगभग कंकर पत्थर का चुरा एवं 20 प्रतिशत सड़ी हुई कपास की मिलावट आती है सड़ी कपास को खोलने पर वह खराब ही निकलती है। उसका उपयोग गाय के आहार में नहीं हो सकता है यहॉं तक की सड़ी कपास में तो कई बार कीड़े मकोड़े, जीव जन्तु तक निकलते है। सभी विक्रेता पंजीकृत बिल देने से भी मना करते है। इसलिए दुध विक्रेता शासन, प्रशासन को कार्यवाही हेतु प्रमाण भी प्रस्तुत नहीं कर पा रहे है मजबुरन मिलावटी आहार खरीदने पर विवश होना पड़ रहा है। इसी प्रकार उड़द की चुरी में 5 किलो तक बालुरेत एवं न्यू साम्रगी का आखाद्य पाउडर निकल रहा है। बैठक में उपस्थिति कम होने से कोरम के अभाव में सर्वसम्मति से निर्णय नहीं हो सका इसलिए सभी की सहमति से वापस अगली बैठक 10 अगस्त को सुबह 11 बजे गांधी वाटिका में आयोजित करने का निर्णय लिया गया। साथ ही जो दुग्ध विक्रेता सदस्य लगातार दो बैठक में अनुपस्थित रहने और कारण की सुचना नहीं देने पर उसकी सदस्यता समाप्त करने की कार्यवाही की जायेगी। इसलिए सभी दुग्ध वितरक विक्रेता मावा विक्रेता, डेयरी संचालक प्रत्येक बैठक में अनिवार्य रूप से उपस्थित हो। 10 अगस्त को आयोजित बैठक अन्य संगठन विकास पंजीयन सम्बंधी विषयों पर भी विचार विमर्श भी किया जायेगा। बैठक में जिला दुग्ध संघ अध्यक्ष प्रहलाद गुर्जर मात्याखेड़ी, बालुराम चौहान, हीरालाल गुर्जर, सीताराम गुर्जर, शिव कन्हैयालाल गुर्जर, हरिसिंह गुर्जर, प्रहलाद सरदारमल गुर्जर, मनोज जैन, रोड़मल गुर्जर, अनिल जनावा, मुकेश लौहार, सुरेश अहीर, ब्रजेश नीमच गोपाल डेयरी, मोहन सिंधी, मोहन मिष्ठान मनासा, मंदसौर, मोरवन, सादड़ी रोड़ क्षेत्र सहित सैकड़ों की संख्या में दुग्ध वितरक एवं मावा मिठाई दुध विक्रेता उपस्थित थे।

Source : Apna Neemuch