गौतमेशवर में अव्यवस्थाएं, श्रद्धालुओं में रोष


- मेले में चैन लुटेरों का आतंक, तीन महिलाओं की चैन छीनी
- पार्किंग के नाम पर चल रही थी अवैध वसूली
अरनोद में गौतमेश्वर दरवाजे पर लगा जाम
प्रतापगढ़.
कांठल के प्रमुख तीर्थ स्थल गौतमेश्वर धाम पर गुरुवार को लगा हरियाली अमावस्या का मेला अव्यवस्थाओं की भेंट चढ़ गया। मेले में प्रशासन और पुलिस की ओर से समुचित व्यवस्था नहीं की गईथी। इसके चलते चैन लुटेरों का आतंक रहा। समाजकंटकों ने मेले में आई तीन महिलाओं के गले से सोने की चैन छीन ली। इसके बावजूद वहां पुलिस की कोई व्यवस्था नहीं की गई। स्थानीय ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी, तक जाकर 3 बजे के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और पीडि़त महिलाओं से जानकारी ली। इस दौरान मेले में आ रहे श्रद्धालुओं से पार्किंग के नाम पर अवैध वसूली की जा रही थी। इसे उपखंड अधिकारी ने मौके पर पहुंचकर बंद करवाया।
मंदिर में दर्शन करने आए श्रृद्धालुओं ने बताया कि मंदिर में हजारों की संख्या में लोग दर्शन करने आए थे। इसके बावजूद मन्दिर परिसर में पीने के पानी एव बिजली की समुचित व्यवस्था नहीं थी। इससे लोगों को बड़ी परेशानी हुई। मंदिर क्षेत्र में शौचालय की व्यवस्था भी नहीं है, जिससे महिलाओं को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा।
पार्किंग के नाम पर अवैध वसूली, एसडीएम ने पकड़ा
गौतमेश्वर में चैन स्नैचिंग की जानकारी मिलने पर गौतमेश्वर जा रहे उपखण्ड अधिकारी विजयेश पण्ड्या ने गौतमेश्वर चौराहे के पास पार्किंग के नाम पर अवैध वसूली का भंडाफोड़ किया। वसूली करने वाले बेहिचक होकर वाहन मालिकों से पैसा वसूल कर रहे थे। उपखण्ड अधिकारी की नजर पडऩे पर उन्होंने रसीद बुक छीन ली। वसूली कर्ता मौके से फरार हो गए। रसीद बुक ग्राम पंचायत लालगढ के नाम से जारी थी, जिस पर कोई नम्बर नहीं था। इस पर उपखण्ड अधिकारी ने रसीद बुक जब्त कर ली। ग्राम विकास अधिकारी से जानकारी लेने पर उसने किसी आदेश से अनभिज्ञता जताई। मेले में किसी भी प्रकार की कोई व्यवस्था न होने एवं ग्राम पंचायत के नाम से अवैध वसूली करने पर भी ध्यान न देने पर ग्राम विकास अधिकारी को फटकार लगाई। रसीद बुक अनुसार 10, 30 और 50 रुपये की रसीद काटी जा रही थी। उपखण्ड अधिकारी ने ग्राम विकास अधिकारी के साथ साथ पुलिस को भी मेले में अवैध वसूली रोकने के निर्देश दिए।