गोरमघाट जाने वाले सैलानियों की रेलमपेल रही

देवगढ़. मेवाड़ के कश्मीर गोरमघाट में अच्छी बारिश के बाद यहां की प्रकृति पर्यटकों को लुभाने लगी है, जिससे सैलानियों की रेलमपेल बदस्तूर जारी है। इसके चलते हरियाली अमावस के बाद शुक्रवार को भी रेल गोरमघाट जाने वाले सैलानियों से खचाखच भरी हुई थी। अच्छी बारिश के बाद गोरमघाट में पहाड़ों से गिरते झरनों को निहारने और उसके नीचे स्नान का लुत्फ उठाने के लिए लोगों की उत्सुकता बढ़ गई है। इसके चलते जहां हरियाली अमावस को रेल में पांव रखने की जगह नहीं थी, वहीं दूसरे दिन भी भारी भीड़ के चलते लोगों ने ट्रेन की छत पर चढ़कर भी सफर किया। मावली से मारवाड़ के बीच चलने वाली रेल में सैलानी मावली से लेकर कामलीघाअ तक सवार होते गए। इसके चलते कामलीघाट पहुंचने के बाद तो ट्रेन में जगह नहीं बचने पर लोग इसकी छत पर भी चढ़ गए। जबकि, यह खतरनाक साबित हो सकता था। इसी तरह मारवाड़ की तरफ से मारवाड़ जंक्शन एवं फुलाद स्टेशन से भी सैकड़ों यात्री गोरमघाट पहुंचे, जिससे दोनों तरफ की भीड़ हो जाने से गोरमघाट में हजारों सैलानी नजर आए।


एक दिन में पांच सौ से ज्यादा टिकिट की बिक्री
कामलीघाट स्टेशन अधीक्षक रामसहाय मीणा ने बताया कि हरियाली अमावस्या के दिन गुरुवार को कामलीघाट से 533 एवं शुक्रवार को 150 व देवगढ़ से 300 यात्रियों ने गोरमघाट के टिकिट लिए।
हरियाली अमावस्या पर पन्नाधाय पैमोरमा


पर उमड़ी भीड़
हरियाली अमावस्या पर पन्नाधाय पैनोरमा कमेरी में भी सैकड़ों की संख्या में पर्यटकों की भीड़ उमड़ी। महाबलिदानी पन्नाधाय स्मारक संस्थान के अध्यक्ष गहरीलाल गुर्जर ने बताया कि पैनोरमा पर सुबह से ही लोगों का तांता लगने लगा, जो शाम तक जारी रहा। उन्होंने बताया कि यहां शाम को 6 बजे तक 2570 पर्यटक पहुंचे। ऐसे में अत्यधिक भीड़ को व्यवस्थित करने के लिए पुलिस बल तैनात किया गया।


इंद्रदेव को मनाने श्री जयसिंह श्याम मंदिर में यज्ञ कल
आमेट. क्षेत्र में अच्छी वर्षा एवं खुशहाली की कामना के लिए रविवार को नगर में इंद्र यज्ञ व खेड़ा देवत पूजन किया जाएगा। समाजसेवी धर्मेश छीपा ने बताया कि नगरवासियों की ओर से प्रभु श्री जयसिंह श्याम जी के मंदिर प्रांगण में इंद्र यज्ञ किया जाएगा। इसके तहत प्रात: 7 बजे भगवान जय सिंह श्याम का अभिषेक, 10 बजे भोलेनाथ का अभिषेक किया जाएगा तथा 12 बजे से इंद्र यज्ञ शुरू होगा। फिर लक्ष्मीलाल जति के सानिध्य में दोपहर 2 बजे से खेड़ा देवत पूजन शुरू होगा। इसमे नगर के सभी देव स्थानक पर जाकर पूजा की जाएगी। शाम 6 बजे महोत्सव की पूर्णाहुति होगी। कार्यक्रम में महामंडलेश्वर सीताराम दास, महंत सियाराम दास, प्रभु प्रकाश सिंह चुंडावत का सानिध्य रहेगा।