गोरमघाट के जंगल में मिले शव की नहीं हुई शिनाख्त

प्रमोद भटनागर
देवगढ़. गोरमघाट के जंगल में शुक्रवार को पेड़ से लटके मिले शव की शिनाख्त नहीं हो पाई है। वहीं, देवगढ़ पुलिस शव के हुलिए के आधार पर शिनाख्ती के प्रयास करने में लगी है।
देवगढ़ थानाधिकारी सुनील शर्मा ने बताया कि शुक्रवार को कामलीघाट रेलवे स्टेशन अधीक्षक रामसहाय मीणा ने कामलीघाट पुलिस चौकी पर लिखित रिपोर्ट देकर बताया था कि जोगमण्डी गोरमघाट के जंगल में एक शव पेड़ से लटका दिखाई दिया है। इस पर कामलीघाट चौकी प्रभारी विजय कुमार ने मय जाप्ता के मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लिया और यहां सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र की मोर्चरी में रखवाया। पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज करते हुए उसकी पहचान के प्रयास शुरू किए, लेकिन शनिवार को देर शाम तक कुछ पता नहीं लग पाया। उन्होंने बताया कि मृतक का शरीर दुबला है और रंग सांवला, लम्बाई करीब साढ़े पांच फीट व उम्र करीब 55 वर्ष है। उसने सफेद धोती एवं बनियान पहन रखा है। पुलिस ने शव का हुलिया व फोटो सभी पुलिस थानों में भिजवाया है। उन्होंने बताया कि वीरान जंगल में मिले शव को लेकर किसी साजिश से भी इंकार नहीं किया जा सकता। बताया कि पेड़ पर लटके शव के दोनों हाथ बांधे हुए थे, जिससे उसकी हत्या की भी आशंका है। वहीं, शव से बदबू भी आ रही थी, जिससे यही अंदाज लगता है कि शव दो-तीन दिन पुराना है।