खुले कैदियों एवं सुरक्षा स्टाफ ने श्स्वच्छता ही सेवा के अंतर्गत की मुक्ति धाम की सफाई

प्रतापगढ़ राष्ट्रव्यापी सफाई कार्यक्रम स्वस्थ भारत मिशन के अंतर्गत मनाए जा रहे स्वच्छता ही सेवा पखवाड़े के अंतर्गत शुक्रवार को जिला कारागृह के अधीनस्थ खुले बंदी शिविर के खुले बंदियों एवं सुरक्षा स्टाफ आरएसी, बॉर्डर होमगार्ड, होमगार्ड तथा जेल पुलिस के कार्मिकों ने मिलकर शमशान स्थल, मुक्तिधाम की साफ सफाई की। जिला कारागृह प्रभारी अधिकारी पारस जांगिड़ ने बताया कि साफ -सफाई के अंतर्गत गाजर घास की कटाई, पेड़ों की छंगाईए खरपतवार को हटाना तथा मौजूद कचरे के ढेर को हटाना इत्यादि कार्य किए गए। शवदाह स्थल की झाड़ू लगाकर सफाई की गई सफाई अभियान में जेल प्रभारी अधिकारी पारस जांगिड़ की अगुवाई में जिला कारागार का समस्त सुरक्षा स्टाफ तथा खुले शिविर के 15 सजायाफ्ता कैदी शामिल रहे। सुरक्षा स्टाफ में आरएसी के 10 जवान नारायणलाल, श्याम कटारा, भंवर लाल, रणजीत सिंह, सूरजमल, गौतमलाल, लालूराम, बंसीलाल, भवानी शंकर, नारायणलाल, जेल कार्मिकों में भूपेश लबाना, वेदराम, शांतिलाल, राजवीरसिंह, सुरेशचंद, जितेंद्र कुमार, बॉर्डर होमगार्ड में आशूराम, रामजीवन, पीराराम, पूमारा, नरेंद्रकुमार, मुकेश कुमार, संतोष कुमार, दुर्गा प्रसाद शामिल रहे। वहीं खुले शिविर के बंदियों में मोहन, नारायण, नंदलाल, बसीर, दयालसिंह, भूरा, लालेंग, शंभूलाल, देवीलालए, फागणा, अंबालाल, राजेश, मुकेश, विष्णु, शंभूलाल इत्यादि शामिल रहे। जेल चिकित्सा अधिकारी हितेश जोशी, फार्मासिस्ट पूर्णराम तथा लैब टेक्नीशियन पुष्पराज सिंह ने भी सफाई कार्य में सहयोग किया। इस अवसर पर नगर परिषद सभापति कमलेश डोसी ने भी मुक्तिधाम पहुंचकर जेल कार्मिकों का उत्साहवर्धन किया। भामाशाह उमेश बम, राजेश नलवाया, शिवसिंह तथा प्रदीप शर्मा ने भी विभिन्न प्रकार का सहयोग किया।

 

कुपोषण मुक्ति के लिए किया जागरुक
प्रतापगढ़. राष्ट्रीय पोषण अभियान के तहत शुक्रवार को बाल विकास परियोजना अधिकारी प्रतापगढ़ प्रथम कार्यालय की ओर से दीपेश्वर तालाब स्थित गीता भवन में पोषण मेले का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता उपनिदेशक ने की। उपनिदेशक एवं बाल विकास परियोजना अधिकारी शीला जैन एवं महिला पर्यवेक्षक रेखा बण्डी, रमीला जैन, कृष्णा राठौड़, उषा सालवी, टीना नागदा, मीना पारगी सहित बड़ी संख्या में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। मेले का मुख्य उद्देश्य जन-जन तक पोष्टिक आहार व वृद्धि निगरानी की जानकारी पहुंचाना था। कार्यक्रम में बच्चों व गर्भवती/धात्री महिलाओं को कुपोषण मुक्त करवाने के लिए जागरूक किया गया। उपनिदेशक मंजु परमार ने मेले में उपस्थित आंगनबाडी कार्यकताओं को स्वास्थ्य एवं पोषण से संबंधित मार्गदर्शन प्रदान किया। उपनिदेशक ने 3 बच्चों (6 माह के) को अन्नप्राषण भी करवाया गया। तीन गर्भवती महिलाओं की गोद भराई रस्म करवायी गई। मेले में कठपुतली का मंचन दिलीप भाट जी कलाकार दल उदयपुर द्वारा किया गया जिसका विषय पोष्टिक आहार था। महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा सन्तुलित आहार की जानकारी देने के लिए विभिन्न तरह के व्यंजन का प्रदर्शन किया गया। कार्यक्रम में पोषण के साथ ही प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना की जानकारी दी गई। ग्राम साथिन सीमा टेलर द्वारा महिला अधिकारिता की योजनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी दी गयी। इस दौरान प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजनान्तर्गत उत्कृष्ठ कार्य करने वाली आंगनबाड़ी कार्यकर्ता कंचन मालवीय सहित अन्य कार्यकर्ताओं को प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया। बाल विकास परियोजना अधिकारी व मेला व्यवस्थापक कार्यालय स्टाफ गीताराम, गेबा, हरिराम, संजय शर्मा, चन्द्रप्रकाश जांगीड़, आदित्य माथुर, विशाल उपाध्याय, विकास बारोलिया के द्वारा उपस्थित सम्भागियों का धन्यवाद देकर समापन किया गया।