कॉलेज छात्रों के लिए आई ये परेशानी, अब परीक्षा देने में आया संकट

भीलवाड़ा. महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय की ओर से गुरुवार से शुरू हुई नियमित विद्यार्थियों की परीक्षाओं में गड़बड़ी से परेशानियां बढ़ गई है। दरअसल, विश्वविद्यालय की ओर से जो प्रवेश पत्र जारी किए गए हैं, इनमें कई त्रुटियां हैं। किसी विद्यार्थी का विषय दल दिया, तो किसी के बैक होने के बावजूद प्रवेश पत्र में नहीं जोड़ा गया है। अब परीक्षा के एेनवक्त पर प्रवेश पत्र मिलने से सैकड़ों विद्यार्थी असमंजस में हैं। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद कॉलेज इकाई की ओर से इकाई अध्यक्ष विजयपालसिंह राठौड़ के नेतृत्व में प्रवेश पत्रों में गड़बड़ी को लेकर कॉलेज आयुक्तालय के नाम प्राचार्य को ज्ञापन भी दिया गया। छात्रसंघ सचिव प्रत्याशी शांतिलाल बलाई ने बताया कि किसी विद्यार्थी ने हार्डकॉपी में हिंदी विषय भरा, प्रवेश पत्र में संस्कृत लिखा हुआ है। विद्यार्थी इतने कम समय में संस्कृत विषय की तैयारी कैसे कर सकता है। और जिन विद्यार्थियों के पिछले साल बैक लगी है, उनके विषय भी प्रवेश पत्र में अंकित नहीं किए गए हैं। इस दौरान नगर सह मंत्री हर्षित शर्मा, कॉलेज इकाई सचिव लोकेश बसीटा, सौरव सांगावत, आरती राणावत, अनुराधा सोनी, अरुण सिंह, अशोक बैरवा आदि मौजूद थे।
---------
केस एक

प्रथम वर्ष के महावीर टेलर ने परीक्षा आवेदन में हिंदी साहित्य विषय भरा। प्रवेश पत्र में संस्कृत लिखा है। महावीर की समस्या है कि संस्कृत की पढ़ाई ही नहीं की तो परीक्षा कैसे देंगे। कॉलेज में भी संतोषजनक जवाब नहीं मिल रहा।
------
केस दो
द्वितीय वर्ष के रत्नेश बैरवा की प्रथम वर्ष में एक विषय में बैक आई थी। रत्नेश ने परीक्षा आवेदन में यह जानकारी दी और शुल्क जमा कराया। प्रवेश पत्र में बैक वाला विषय नहीं है। एेसे में परीक्षा कैसे दे, यह समस्या हो गई है।

...................
करेंगे समाधान का प्रयास
इस बार कुछ प्रवेश पत्रों में गड़बड़ी आई है। छात्र-छात्राओं को जैसे ही पता चले वे इसकी सूचना कॉलेज प्रशासन को दें। कोशिश करेंगे कि समाधान हो जाए। इसके लिए विश्वविद्यालय में बात की जाएगी।
इंदूबाला बापना, प्राचार्य, एमएलवी कॉलेज