कृषि निर्यात नीति 2018 को कैबिनेट की मंजूरी

मेवाड़ किरण @ नीमच -

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने गुरुवार को देश की पहली कृषि निर्यात नीति 2018 को मंजूरी प्रदान की. वाणिज्य और उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि इस नीति का मकसद 2022 तक कृषि उत्पादों का निर्यात 60 अरब डॉलर करना है ताकि किसानों की आमदनी दोगुनी हो सके.
सुरेश प्रभु ने संवाददाताओं को बताया, 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लिए यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की परिकल्पना के अनुरूप है. हमने कृषि निर्यात 30 अरब डॉलर से बढ़ाकर 37 अरब डॉलर किया है और हमें पक्का विश्वास है कि 2022 तक यह दोगुना बढ़कर 60 अरब डॉलर हो जाएगा.
उन्होंने कहा, आज हमारे कुल कृषि निर्यात में चावल, समुद्री उत्पाद और गोश्त जैसे तीन ही उत्पादों का योगदान 52 फीसदी है. इसलिए हमें इसमें विविधता लानी होगी और हम उस दिशा में काम कर रहे हैं. हम जैविक, नस्ली और देसी उत्पादों को प्रमुखता से प्रोत्साहन देंगे.

Source : Apna Neemuch