किसानों की समस्याओं को लेकर कलेक्टर से मिले

मन्दसौर । राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ मप्र जिला इकाई मंदसौर द्वारा कलेक्टर धनराजू एस से मुलाकात कर एडीएम को एक ज्ञापन दिया। जिले के किसानों की 4 सूत्रीय गंभीर मांगों की ओर ध्यान आकर्षित कराते हुए उनके निराकरण की मांग की। कलेक्टर ने मांगों का जल्द निराकरण करने का आश्वासन दिया। राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ के जिलाध्यक्ष महेश व्यास ने कलेक्टर को बताया कि मंदसौर जिले के किसान विभिन्न समस्याओं से ग्रसित हैं, लेकिन शासन व प्रशासन की अनदेखी के कारण किसानों में आक्रोश बढ़ता रहा है। कुछ सामान्य स्तर की मांगों का अधिकारिक स्तर पर निराकरण नहीं होने से किसान विभिन्न गंभीर समस्याओं से ग्रसित है।
यह है प्रमुख मांगे
किसानों की चार महत्वपूर्ण मांगों जिसमें शीत लहर व पाले के कारण अत्यधिक नुकसान हुआ है, इसमें चना, मसूर, रायड़ा, गेहूं, धनिया जैसी फसलों में लगभग 6 0-70 प्रतिशत नुकसान हुआ है। जबकि विभागों द्वारा 15-20 प्रतिशत ही नुकसान बताया जा रहा है जो कि अनुचित है। अत: नुकसानी का सही आंकलन कर राहत राशि शीघ्र प्रदान कराई जाएं। समर्थन मूल्य पर खरीदी जा रही उड़द, मूंग, सोयाबीन आदि फसलें पंजीयन का रकबा असत्य बताया जा रहा है, उन्हें शीघ्र सत्यापित किया जावे। कर्ज माफी योजना में सभी किसानों को समानता के साथ लिया जाएं, भेदभाव नहीं किया जाएं और जिससे की अन्नदाता को कोई संदेह नहीं रहे और वह आत्महत्या जैसे कदम नहीं उठाएं। समर्थन मूल्य पर खरीदी जा रही फसलों की तारीख आगे बढ़ाई जाएं और 19 जनवरी बढ़ाकर 1 फरवरी तक किया जाएं ताकि जिन किसानों को मैसेज नहीं मिला है उन्हें रकबा सत्यापित होने तक समय मिल सके। ज्ञापन में कहा कि अगर जिला स्तर पर इन मांगों का निराकरण नहीं हुआ तो प्रदेश संगठन के आव्हान पर अनिश्चितकालीन आंदोलन किया जाएगा जिसकी जवाबदारी प्रशासन की होगी। इस अवसर पर जनसेवा मित्र मण्डल जिलाध्यक्ष दशरथ शर्मा, बाबूलाल जाट, प्रकाश पाटीदार, बसंत व्यास, कचरू धाकड़, राहुल धाकड़, मुकेश धाकड़, श्याम राठौड़, राकेश टेलर सहित अनेक पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।