किन गांवों में तेज हवा और बारिश से आड़ी हो गई फसलें

चित्तौडग़ढ़. जिले में शुक्रवार देर रात शुरू हुई बारिश का दौर रविवार को दोपहर तक जारी रहा। रविवार सुबह तेज बारिश होने के बाद दोपहर तक बूंदाबांदी का दौर चलता रहा। रविवार शाम ५ बजे समाप्त पिछले २४ घंटे में सर्वाधिक १०० मिलीमीटर यानी करीब चार इंच बारिश रावतभाटा में दर्ज की गई। जिला मुख्यालय पर २५, गंगरार में ३४, कपासन में ५३, भूपालसागर में ४१, राशमी ४२, बेगूं ८५, रावतभाटा में १००, निम्बाहेड़ा में २९, भदेसर में २६, बडीसादड़ी में ३४, डूंगला में ४६ मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। बारिश से किसानों के चेहरे एक बार फिर खिल उठे। जिले के अधिकांश इलाकों में अच्छी बारिश दर्ज की गई वहीं कई इलाकों में अच्छी बारिश का इंतजार है। बारिश के साथ तेज हवा चलने से किसानों की फसलें आड़ी पड़ गई है जिससे किसानों को अब लगातार बारिश होने से फसलों के खराब होने का डर सताने लगा है। बारिश होने से जिले के बांधों में भी पानी की आवक शुरू हो गई है। जिले के अधिकतर प्रमुख बांधों में अभी क्षमता की तुलना में बहुत कम पानी मौजूद है।
बड़ीसादड़ी. रविवार तड़के उपखण्ड क्षेत्र में अच्छी बरसात हुई जिससे कृषकों के चेहरे खिल गए। खाद की दुकानों पर चहल पहल देखी गई।
भदेसर. क्षेत्र में शनिवार शाम को शुरू हुई बारिश रविवार सुबह तक जारी रही। बरसात से किसानों को राहत मिली।
कपासन. नगर सहित आसपास में रविवार दिन में रूक-रूक कर बूंदाबांदी होती रही, आकाश में बादल छाए रहे। इस बीच शनिवार रात में हुई तेज वर्षा से तालाब में पानी की आवक हुई तथा खरीफ की फसलें को जीवनदान मिला।
बेगूं. बेगंू में रविवार सुबह ३.५ इंच बारिश दर्ज हुई। दो दिन से हो रही अच्छी बारिश के चलते बेगंू क्षेत्र में बांधों एवं तालाबों में पानी की आवक शुरू हुई। एनिकट भरने लगे। नदी में भी पानी आना शुरू हुआ। बारिश से ओराई बांध में १०.७ फीट पानी एवं डोराई में 6 फीट पानी की आवक हुई। अन्य बांधों में भी पानी की आवक हुई।
राशमी. कस्बे सहित उपखण्ड क्षेत्र में रविवार तड़के अच्छी वर्षा हुई। गली मोहल्लों में तेजी से पानी बहने लगा। अच्छी वर्षा के बाद रविवार को किसान मक्का, ज्वार आदि फसलों में यूरिया खाद देने में जुट गए। रविवार दोपहर बाद क्षेत्र में वर्षा थम गई। दूसरी ओर बनास नदी में अभी तक पानी की आवक नहीं होने से नदी क्षेत्र में बने करीब एक दर्जन एनीकट खाली हैं।
डूंगला. कस्बे सहित क्षेत्र भर में रविवार रात्रि में मानसून पुन: सक्रिय हुआ। रविवार मध्यरात्रि बाद क्षेत्र भर में बारिश का दौर चला जो कभी तेज तो कभी मध्यम होकर सुबह तक चलता रहा।
भैसरोडगढ. क्षेत्र में शनिवार को शुबह से बारीस शुरू हुई जो रविवार को भी जारी रही। बारिश से किसानों के चहरे खिल उठे। गोपालपुरा के नई आबादी के लोगों ने झरिया महादेव मंदिर में चूरमा बाटी का भोग लगाया एवं अच्छी बारिश के लिए यज्ञ किया। गोपालपुरा, तबोलिया, श्रीपुरा, भैसरोडगढ़, धागणमऊ कलां, लोटीयाणा आदि गांवों में अच्छी बारिश हुई। नेरालिया नाला व रानीबोर का नाला में पानी बह निकला।
बबराणा. आसपास के क्षेत्र में बीते कई दिनों से बारिश का इंतजार कर रहे लोगों के लिए शनिवार राहत लेकर आया। देर रात को हुई झमाझम बारिश का दौर सुबह तक जारी रहा। लोग बारिश का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। बारिश होने से किसानों के चेहरों पर रौनक लौट आई।