कायाकल्प में भीलवाड़ा 12वें स्थान पर, प्रतापगढ़ अव्वल!

भीलवाड़ा।
kaayaakalp yojana कायाकल्प योजना के तहत प्रतापगढ़ जिला अस्पताल अव्वल है। हालांकि इसकी अधिकृत घोषणा नहीं की गई है, लेकिन सर्वे टीम ने जो नंबर दिए हैं, उसके आधार पर प्रतापगढ़ ९१.३३ प्रतिशत अंक मिले हैं। प्रतापगढ़ जिला अस्पताल प्रदेश में प्रथम स्थान रहेगा। भीलवाड़ा 75.33 अंक लेकर १२वें स्थान पर है। योजना के अनुसार प्रदेश के टॉप दो अस्पतालों की ५०-५० लाख रुपए की सहयोग राशि मिलती है, जबकि दूसरे स्थान पर ३०-३० लाख व तिसरे स्थान पर आने पर २०-२० लाख की सहायता राशि मिलती है।

kaayaakalp yojana केंद्र की कायाकल्प योजना के तहत अस्पताल को साफ -सुथरा रखने, उपकरणों का रखरखाव, स्वच्छता, वेस्ट मैनेजमेंट, संक्रमण, सहायक सेवाएं और स्वच्छता पर विशेष ध्यान देने पर यह पुरस्कार मिलता है। भीलवाड़ा के महात्मा गांधी चिकित्सालय का सिरोही अस्पताल के प्रमुख चिकित्सा अधिकारी दर्शन ग्रोवर सहित चार सदस्यीय टीम ने दौरा किया था। टीम ने ऑनलाइन फीडबैक दिया था। इसके आधार पर भीलवाड़ा को मात्र ७५ अंक मिले हैं।

क्यों पिछड़ा भीलवाड़ा
kaayaakalp yojana भीलवाड़ा अस्पताल भले ही मेडिकल कॉलेज से जुड़ गया, लेकिन अभी इस स्तर की सुविधा नहीं मिल रही है। बजट भी जिला अस्पताल के आधार पर मिल रहा है। अस्पताल में बैड की संख्या ५०० तक पहुंच गई है। इसके बाद भी मरीजों को सुविधा नहीं मिल पा रही है।

नहीं उठ रहा कचरा
अस्पताल से सफाई के बाद कचरे को मोर्चरी के पास एकत्र किया जा रहा है, लेकिन वहां से नगर परिषद कचरा नहीं उठा रही है। जांच टीम ने लेबर रूम को काफी छोटा माना, नियमों की पालना तक नहीं हो रही थी। निरीक्षण के दौरान लेबर रूम प्रभारी व अन्य अधिकारी नहीं थे। वहां डोल रहे चूहों का ठोस कारण नहीं बताया गया।

ये होंगे टॉप टेन अस्पताल
सर्वे के अनुसार प्रतापगढ़ 91.33 अंक लेकर प्रथम, हनुमानगढ़ (89.67) दूसरे, झुंझुनूं (84.17) तीसरे स्थान पर है। अजमेर (83.83) चौथे, जालोर पांचवें (82.83), राजसमंद (80.5) छठे, गंगानगर सातवें (79.67), पाली (79) आठवें, नागौर (78) नौवें, चूरू अस्पताल (76.67) दसवें स्थान पर है।

ये जिला अस्पताल रहे फिसड्डी
टोंक 76, भीलवाड़ा 75.33, सिरोही 75.33, बारां 73.83, करौली 72.83, बांसवाड़ा 72.67, जैसलमेर 72.17, सीकर ७१, सवाईमाधोपुर 70.17, धौलपुर 68.17, अलवर 67.33, बाड़मेर 65.33, चित्तौडग़ढ़ 63.33, डूंगरपुर 62.33, बूंदी 53 तथा भरतपुर 49.5 अंक।