कानून की पढ़ाई के मंदिर की जमीन पर कब्जा

कानून की पढ़ाई के मंदिर की जमीन पर कब्जा

भीलवाड़ा. कानून का पाठ पढ़ाने वाले राजकीय स्नातकोत्तर विधि महाविद्यालय (law college ) की जमीन पर अक्रिमी कब्जा जमाए बैठे है। यहां अतिक्रमण को कैसे हटाया जाए, इसके लिए अब कानून की जानकारी राजस्व टीम जुटाएगी। रविवार को यहां महाविद्यालय में पौध रोपण (planation ) के लिए जिला कलक्टर राजेन्द्र भट्ट (dm ) पहुंचे तो विद्यार्थियों ने अपनी पीड़ा जताई और महाविद्यालय भूमि पर बढ़ रहे अतिक्रमण को भी दिखाया। इस पर भट्ट ने भी गंभीरता दिखाई और महाविद्यालय की भूमि का सीमांकन तीन दिन में करने के आदेश (order) सम्बंधित विभाग को दिए। उन्होंने कहाकि सीमांकन रिपोर्ट के आधार पर बेदखली की कार्रवाई की जाएगी।

यहां छात्र नेता सौरभ पारीक व किरण सालवी ने कलक्टर को बताया कि महाविद्यालय की चहारदीवारी क्षेत्र में कई स्थानों पर लोगों ने कब्जे कर यहां कच्चे पक्के निर्माण करवा दिए। कुछेक प्रभावशालियों ने तो अपने कार्यालय के बोर्ड तक यहां लगा रखे है।

यूआईटी (uit ) की जमीन पर कब्जा
दूसरी तरफ नगर विकास की सरकारी जमीन पर भी अतिक्रमी अपना डेरा बढ़ाते जा रहे है। रमेश चन्द्र व्यास नगर के आर सेक्टर में एक परिवार करीब ८० लाख की जमीन पर पांच साल डेरा डाले बैठा हुआ था, न्यास ने शुक्रवार को आरसी व्यास नगर में अतिक्रमी परिवार को बेदखल कर जमीन मुक्त करा ली। यहां आरसी व्यासनगर के आर सेक्टर में टंकी के बालाजी के सामने न्यास की चालीस गुणा पचास साइज के बेशकीमती भूखंड पर लम्बे समय से एक परिवार कब्जा कर यहां दो कच्चे झोपड़े बना कर रह रहा था। सरकारी जमीन पर अतिक्रमण की शिकायत पर शुक्रवार को न्यास सचिव नितेन्द्र सिंह ने अधिशासी अभियंता सतीश शारदा की अगुवाई में टीम गठित की। टीम ने सुभाष नगर पुलिस के जाप्ते की मदद से अतिक्रमण को हटाते हुए दोनों कच्चे झोपड़े भी गिरा दिए।