कांग्रेस सरकार फिर भी क्यों नहीं बुलाया कांग्रेस विधायक को …पढ़े यहंा

मंदसौर
गरोठ क्षेत्र के ग्राम चंदवासा में शुक्रवार को आयोजित हुई जिला स्तरीय शालेय क्रिकेट प्रतियोगिता में स्थानीय विधायक सहित किसी भी जनप्रतिनिधि को नहीं बुलाया गया है जिसको लेकर क्षेत्र के स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने प्रोटोकोल का उल्लंघन का आरोप लगाते हुए क्रीड़ा प्रतियोगिता के आयोजन पर ही सवाल खड़े कर दिए हैं। स्थानीय जनप्रतिनिधियों का आरोप है कि शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित इस प्रतियोगिता में ग्राम के शासकीय स्कूल परिसर में बड़ा खेल मैदान होते हुए भी एक निजी स्कूल में खेल प्रतियोगिता का आयोजन किया है वही क्षेत्र के कई विद्यालय के छात्रों ने इस आयोजन को लेकर आरोप लगाया है कि आयोजन इंटेरियल के गांव चंदवासा में किया गया है जिससे उन्हें पहुंचने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा है। वहीं मामले को लेकर शिक्षा विभाग के जिला अधिकारियों ने स्थानीय संकुल प्राचार्य को जवाबदार मानते हुए मामले में कारण बताओ नोटिस जारी किए जाने की बात कही है।
जानकारी के मुताबिक शुक्रवार को शिक्षा विभाग द्वारा ग्राम चंदवासा में जिला स्तरीय शालेय खेल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। चंदवासा गरोठ शामगढ़ से करीब 40 किलोमीटर दूर होकर आने जाने के साधन अत्यंत कम है चंदवासा जाने के लिए मेलखेड़ा से बस में यात्रा करना पड़ती है। जिसके कारण प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए इतना लंबा सफर करने पर छात्र इतना थक जाते हैं कि वह प्रतियोगिता में किस प्रकार प्रदर्शन कर पाये होंगे। वही जिला पंचायत सदस्य ने शासकीय आयोजन में प्रोटोकाल के उल्लंघन का भी आरोप लगाया है। जिला पंचायत सदस्य के मुताबिक आयोजन की जानकारी क्षेत्रीय विधायक, जिला पंचायत सदस्यए, सरपंच व पंच सहित किसी भी स्थानीय जनप्रतिनिधि को नहीं दी गई। जबकि शासकीय आयोजन में स्थानीय जनप्रतिनिधियों को सूचना देना व बुलाना प्रोटोकॉल के तहत नियम बना हुआ है। इसके साथ ही जिला पंचायत सदस्य का कहना है कि शासकीय कार्यक्रम शासकीय विद्यालय परिसर के बड़े खेल मैदान में ना करते हुए एक निजी स्कूल में आयोजन किया गया है जो भी गलत है।जिला पंचायत सदस्य का आरोप है कि शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने भाजपा की मानसिकता के रहते हुए इस प्रकार का आयोजन किया है जिसको लेकर वह प्रदेश के मुख्यमंत्री से लेकर विभाग के मंत्रियों व उच्चाधिकारियों को अवगत करा कर कार्यक्रम के जवाबदार जिला शिक्षा अधिकारी के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई किए जाने की मांग करेंगे।
संकुल प्राचार्य को देंगे नोटिस.
जिला स्तरीय खेल प्रतियोगिता के आयोजन की जानकारी प्रोटोकॉल के तहत जनप्रतिनिधियों को दी जाना थी। जिसके लिए स्थानीय संकुल प्राचार्य को ध्यान रखना था जो उन्होंने नहीं रखा है।यदि इस प्रकार की बात है तो मामले में संकुल प्राचार्य को नोटिस देकर जवाब मांगा जाएगा।रही बात निजी स्कूल में आयोजन की तो शासकीय स्कूल का खेल मैदान में पत्थरएकंकड व साफ सुधरा नहीं था जिसके कारण निजी स्कूल में आयोजन किया गया है।
अशोक पाटीदार जिला क्रीड़ा अधिकारी शिक्षा विभाग मंदसौर