कांग्रेसजनों ने पूर्व केंद्रीय मंत्री राजेश पायलट की जयंती मनाई

मेवाड़ किरण@नीमच -

नीमच/ जीरन. किसानों के हितेषी लोकप्रिय नेता, पूर्व केंद्रीय मंत्री, राजस्थान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के पिताजी और देश में हरित क्रांति के जनक स्वर्गीय राजेश पायलट की जयंती रविवार को गांधी चौक नए बस स्टैंड पर मनाई गई।

भरतपुर से लड़ा था पहला लोकसभा चुनाव
सर्वप्रथम स्वर्गीय राजेश पायलट के चित्र पर माल्यार्पण किया गया। उपस्थितजनों ने नारे लगाए की जब तक सूरज चांद रहेगा तब तक राजेश पायलट का नाम रहेगा। जंयती के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रदेश युवा कांग्रेस सचिव तरूण बाहेती ने कहा कि राजेश पायलट किसानों के हितेषी नेता थे। उन्हें देश में हरित क्रांति के जनक के नाम जाना जाता था। वे हमेशा किसानों के हित के लिए काम करते थे। राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के जिलाध्यक्ष एवं किसान नेता रमेश राजोरा ने कहा कि राजेश पायलट एक सामान्य गुर्जर परिवार में से थे। वे दिल्ली की गलियों में दूध बेचते थे। बाद में पायलट बने। उनका पूरा नाम राजेश्वर विधुड़ी था, परन्तु जब पहली बार इंदिरा गांधी ने राजस्थान के भरतपुर से लोकसभा का चुनाव लडऩे को कहा तब वह राजेश पायलट के नाम से चुनाव लड़े। इसके बाद उनका नाम राजेश पायलट हो गया था। जीरन ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष विनोद दक ने कहा कि राजेश पायलट जननायक थे इसलिए उन्होंने नौकरी छोड़कर जनता की सेवा करने का रास्ता चुना। केन्द्रीय मंत्री रहकर किसानों और आम जानता के हित में कई निर्णय लिए। पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वर्गीय राजेश पायलट ने कांग्रेस पार्टी, कार्यकर्ताओं और आम जनता के लिए जो कार्य के लिए है उन्हें भी भुलाया नहीं जा सकता। कार्यक्रम में युवा नेता इमरान खान एडवोकेट, युकां नगर अध्यक्ष पवन शर्मा, किसान नेता मुकेश मेड़ीवाला, बालूभाई मेरावत, राकेश मेरावत, देवीलाल गायरी, वीरेंद्र जारेरिया, दीपक सरगरा, गोरीशंकर भट्ट आदि ने संबोधित किया। संचालन इमरान खान ऐडवोकेट ने किया। आभार राकेश मेरावत ने माना। पूर्व केंद्रीय मंत्री राजेश पायलट की जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में बड़ी संख्या में कार्यकर्ता और पदाधिकारी उपस्थित थे।