कहीं सलाखों के पीछे भाइयों की कलाई पर सजी राखी तो कहीं पेड़़ा़ेें के ल‍िए बांंधा रक्षा सूत्र

उदयपुर. रक्षा बंधन का पर्व गुरुवार को धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर बहनों ने भाइयों की कलाई पर रंग बिरंगी राखियां बांधकर रक्षा का वचन लिया। दिनभर कभी तेज तो कभी रिमझिम बारिश के बीच बहनों ने भाइयोंं की कलाई पर राखी बांधी। इस दौरान बहनेंं बारिश में भीगते भीगते राखी बांधने पहुची। बारिश से भाई बहन के इस प्रेम के त्यौहार में कोई कमी नही आई। रक्षाबंधन पर्व पर बाजारों में रेलवे स्टेशन, बस स्टेंड पर रौनक रही। दिनभर मिठाइयों व राखी की दुकानों पर जमकर खरीदारी हुई। रक्षाबंधन पर्व को लेकर घरों में उत्साह का माहौल रहा। परिवार के सभी सदस्य एक जगह एकत्र हुए। हंसी खुशी के माहौल में बहनों ने शुभ मुहूर्त में बहनों ने भाइयों की कलाई पर राखी बांधी। इस अवसर पर भाइयों ने बहनों को सुख दुख में साथ देने का वचन देते हुए सामर्थ के अनुसार उपहार व रुपये दिए।

सुबह से शाम तक बारिश होने के बावजूद बहने भाइयोंं की कलाई पर राखी बांधने पहुची। कही भाइयोंं ने अपनी बहनों से मन पसन्द राखियां बंधवाई। सेंट्रल जेल में भी भाइयों को राखियां बांधने बहनें पहुंची। वहीं, कहीं महिलाओं ने नैतिक जिम्‍मेदारी न‍िभाते हुए पेड़़ा़ेें पर रक्षा सूत्र बांंधा ।

रक्षा बंधन पर्व को लेकर बच्चों में विशेष उत्साह दिखाई दिया। बच्चो के लिए विशेष कार्टून की राखियो के साथ ही लाइट ब्रेसलेट, घड़ी वाली, राखियों ने बच्चो को खूब लुभाया। वही बच्चे को उपहार को लेकर भी काफी उत्साहित थे। भुआ , मौसी, ताऊ, चाचा आदि ने बच्चो को उपहार में चॉकलेट, कपडे, खिलोने आदि दिए जिसे पाकर बच्चे खुश रहे।

बहनों ने भाइयोंं के लिये खरीदी मनपसंद मिठाइयांं

रक्षा बंधन पर्व पर राखी बांधने के बाद मिठाई खिलाने व आदान प्रदान करने की परंपरा है । इसको लेकर सुबह से मिठाइयों की दुकानों पर भीड़ रही।।

रक्षा बंधन पर्व पर घरों में विशेष मिठाइयांं भी बनाई गई वही भाइयों ने बहनों को अपने घर राखी बांधने आने के साथ साथ खाना भी किया व बहनों को भोजन करवाया।