कर्जमाफी महाघोटाला: सहकारिता विभाग की बड़ी कार्रवाई, केंद्रीय सहकारी बैंक प्रबंध निदेशक को किया एपीओ

डूंगरपुर। वृहद् बहुउद्देश्यीय सहकारी समितियों के माध्यम से हुए कर्जमाफी घोटाले के तहत सहकारिता विभाग ने पहली बार बड़ी कार्रवाई करते हुए दी डूंगरपुर केंद्रीय सहकारी बैंक के प्रबंध निदेशक हीरालाल यादव को एपीओ कर दिया है।

साथ ही उन्हें गड़बडिय़ों के विरुद्ध कार्रवाई नहीं करने पर नोटिस भी जारी किया गया है। रजिस्ट्रार सहकारी समिति, जयपुर नीरज के. पवन ने बताया कि प्रबंध निदेशक यादव को एपीओ कर दिया है। उनकी जगह पर अनिमेष पुरोहित डूंगरपुर के नए एमडी होंगे।

गौरतलब है कि पूर्ववर्ती भाजपा सरकार ने प्रदेश में सहकारी बैंकों के माध्यम से किसानों के 50 हजार रुपए तक के ऋण माफी की घोषणा की थी। इसके तहत डूंगरपुर जिले में 65 हजार किसानों के 188 करोड़ के कर्जमाफी की सूचियां बनी।

कर्जमाफी घोटाले से मचा हड़कंप: व्यापारी, अधिवक्ता को भी बताया कृषक, कर दिया कर्ज माफ

जैसे ही यह सूचियां ऑनलाइन लाइन हुई, जिले के कई लेम्प्स में इन सूचियों पर आपत्तियां उठने लगी। एक के बाद एक कई लेम्प्स में कर्जमाफी के नाम पर व्यापक गड़बडिय़ां उजागर होने लगी। राज्य सरकार ने विशेष जांच दल भेजकर ऑडिट कराई। ऑडिट दल ने 19 लेम्प्स के करीब 11 हजार से अधिक खाते टटोले। इसमें 75 फीसदी नाम फर्जी होना सामने आया था।