ऐसे हर किसी के नहीं आए झांसे में, जेवर चमकाने के बहाने उचक्के ले गए कान की झुमकियां

ऐसे हर किसी के नहीं आए झांसे में, जेवर चमकाने के बहाने उचक्के ले गए कान की झुमकियां
मोहम्मद इलियास/उदयपुर . सविना क्षेत्र में तीन उचक्के जेवर चमकाने के बहाने एक वृद्धा को झांसे में लेते हुए डेढ़ तोला सोने के कान के झुमके व टॉप्स ले गए। यूआईटी कॉलोनी सेक्टर-12 निवासी केसरबाई पत्नी नाथूसिंह ने बताया कि सुबह 11 बजे वह अपनी बहू शंकुतला के साथ घर पर अकेली थी, तब तीन युवक शैम्पू व बर्तन चमकाने का पाउडर बेचने के लिए आए। उन्होंने अपने माल की खूबी बताते हुए चमकाने के लिए बर्तन मांगा। मना करने पर वे इधर-उधर की बातें कर गुमराह करने लगे। इस पर झांसे में आई वृद्धा के कहने पर बहू ने तांबे का लोटा लाकर दिया। उचक्कों ने पाउडर डालकर पलभर में ही उसको चमका दिया। उसी समय बारिश हो गई तो एक उचक्का बहाना कर अंदर आ गया। उसने चांदी चमकाने के लिए वृद्धा से पायजब की जोड़ी मांगी जो उसने थमा दी। बहू शकुतंला के अंदर जाते ही वृद्धा ने अपने कान के झुमके व अलमारी से एक जोड़ी टॉप्स लाकर दे दिए। उचक्के ने चमकाने के बहाने उन्हें एक बार दिखाया और उन्हें गर्म करने का कहकर बर्तन में रखते हुए वृद्धा को दे दिया। वृद्धा के अंदर जाते ही उचक्के भाग निकले। उसने अंदर बर्तन को खोलकर देखा तो जेवर गायब थे। वृद्धा बाहर आकर चिल्लाई तब तक उचक्का दूर बाइक पर खड़े दो अन्य साथियों के साथ भाग निकला। वारदात के बाद सास-बहू घर के कुछ आगे तक भी गए लेकिन उचक्कों का पता नहीं चला।
--
लाल रंग की बाइक पर आए थे उचक्के
वृद्धा ने बताया कि तीनों आरोपी लाल रंग की बाइक पर आए थे। सभी की उम्र 25 से 30 साल के बीच थी। उन्होंने सफेद, काला व गुलाबी शर्ट पहन रखा था। वारदात के सास-बहू ने सविना थाने पहुंचकर घटना की जानकारी दी। पुलिस ने वृद्धा के बताए हुलिये के आधार पर जिलेभर में नाकाबंदी करवाई लेकिन उचक्कों का पता नहीं चला।