एमजीएच का डॉक्टर समेत 15 पॉजिटिव मिले

भीलवाड़ा।
जिले में शुक्रवार को कोरोना इलाज का बड़ा केंद्र बने महात्मा गांधी अस्पताल के एक डॉक्टर समेत 15 पॉजिटिव मिले। अस्पताल के आइसीयू में भर्ती एक मरीज भी पॉजिटिव मिला। आइसीयू बंद कर दी। संक्रमित मिले मरीज भीलवाड़ा के आरसी व्यास, शास्त्रीनगर, आमलियों की बारी, रायपुर, आसींद, कोटड़ी व बागोर क्षेत्र के हैं। इनमें अधिकतर मुंबई, दिल्ली, बेंगलूरु से लौटे हैं। संक्रमितों की संख्या अब 219 हो गई है। दो जनों की हालात गंभीर है। अब तक पांच जनों की मौत हो चुकी है।
आरआरटी प्रभारी व डिप्टी सीएमएचओ डा. घनश्याम चावला ने बताया कि एमजीएच में एक डॉक्टर के पॉजिटिव आने पर अधीक्षक डॉ. अरुण गौड़, उप नियंत्रक डॉ. देवकिशन सरगरा, मुकटराजसिंह डॉक्टर को लेने आरसी व्यास कॉलोनी गए। मूलत: जयपुर निवासी डॉक्टर की ड्यूटी २३ मई से कोरोना वार्ड में थी। डॉक्टर हाल में एक दिन जयपुर जाकर आए थे। डॉक्टर को दो दिन से बुखार था। इस खबर से अस्पताल में हड़कंप मच गया। इनके साथ ७ डॉक्टर व नर्सिंग स्टाफ कोरोना मरीज देख रहे थे। माना जा रहा है कि डॉक्टर ग्लब्स नहीं पहनने से संक्रमित हुए। करीब १२ सदस्यों को क्वारंटीन किया है।
जयपुर में कराया इलाज
चावला ने बताया कि कोटड़ी के ६५ साल का एक शख्स गत दिनों जयपुर के निजी अस्पताल में भर्ती हुआ। वहां १० जून को जांच में नेगेटिव निकलने पर स्पाइन का ऑपरेशन कराया। परिजन गुरुवार को गांव ला रहे थे कि रास्ते में तबीयत बिगड़ गई। व्यक्ति को एमजीएच लाए, जहां आइसीयू में भर्ती किया। जयपुर के अस्पताल ने घर भेजने से पहले दोबारा कोरोना जांच कराई। शुक्रवार को रिपोर्ट पॉजिटिव आई। मरीज को आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट किया। वह वेंटिलेटर पर है। आइसीयू में भर्ती ७ अन्य मरीजों को कोरोना संदिग्ध आइसीयू में शिफ्ट कर किया। एमजी की आइसीयू में दवा का छिड़काव कराया।
ये पाए संक्रमित
-भीलवाड़ा के शास्त्रीनगर ई सेक्टर का दो वर्षीय बच्चा संक्रमित निकला। यह एक जून को मुंबई से लौटा था। इसके दादा-दादी पहले ही पॉजिटिव आ चुके हैं।
-भीलवाड़ा के भदादा मोहल्ले की आमलियों की बारी निवासी बर्तन व्यवसायी के घर 13 जून को शादी थी। करीब ४०० लोग शरीक हुए। व्यवसायी को शादी के बाद बुखार आया। 18 जून को सैम्पल लिया तो पॉजिटिव निकला।
-रायपुर के नांदशा जागीर क्षेत्र का २५ वर्षीय युवक 17 जून को मुंबई से ट्रावेल्स से आमेट आया। वह स्पिनिंग मिल में है। 18 जून को सैम्पल लिया था।
-रायपुर निवासी ४ वर्षीय बालक 17 जून को परिवार के साथ महाराष्ट्र के सांगली से लौटा। सभी परिजन सैम्पल लेने के बाद क्वारंटीन हैं। इस बालक के साथ पिता को भी अस्पताल में रखा गया है।
-रायपुर के सगरेव के एक परिवार के दो चचेरे भाई संक्रमित निकले। इस परिवार के सात जने एक वाहन से मुंबई से लौटे थे। चार जने पहले ही संक्रमित आ चुके हैं। इस परिवार के संपर्क आया आमेट निवासी एक शख्स शुक्रवार को पॉजिटिव निकला।
-करेड़ा निवासी २८ वर्षीय युवक सिरोही से १८ जून को गांव लौटा। जांच में पॉजिटिव निकला। यह करेड़ा में मूर्ति बनाने का काम करता है।
-रायपुर के टोंगचों का खेड़ा मोखुंदा के ४७ साल की मॉ व २३ साल का बेटा 18 जून को मुंबई के घाटकोपर से ट्रावेल्स बस से मोखुंदा आए। इनके पिता सुथार का कार्य करते है तथा बेटा मुंबई में पढ़ाई कर रहा हैं।
-बागोर के बड़े मंदिर के पास रहने वाले २६ साल का युवक १८ जून को कर्नाटक से लौटा। वहां व्यापार करता है। युवक क्वारंटीन था, लेकिन बाजार में घूम रहा था।
-बागोर के निकट भावलास का २५ साल का युवक बेंगलूरु में कपड़े का कारोबारी है। वह हवाईजहाज से बेंगलूरु से अहमदाबाद आया। वहां से टैक्सी से घर पहुंचा था।
– आसींद के जैतपुरा निवासी २२ साल का युवक दिल्ली से अजमेर ट्रेन से आया। अजमेर से वैन से आसींद पहुंचा। दिल्ली में मेहंदी का काम करता है।
दो को भेजा घर
इधर, कोरोना वायरस से मुक्त हुए सीजीएसटी अधिकारी सुनील रोहिला व गंगापुर के वार्ड नंबर ६ के लक्ष्मीलाल भील को शुक्रवार को एमजीएच से डिस्चार्ज कर दिया गया। एमजीएच अधीक्षक डॉ. गौड ने इन्हें फूल देकर घर रवाना किया।