एक दशक में भी पूरी नहीं हुई जमीन की आस

भीलवाड़ा।
District Industrial Advisory Committee एक दशक से अधिक समय गुजर गया लेकिन आवंटित होने के बाद भी उद्यमियों को जमीन नहीं मिल सकी है। उद्यमी जिला औद्योगिक सलाकार समिति की बैठक में कई बार यह मुद्दा उठा चुके हैं, लेकिन समाधान नहीं हो सका।

https://www.patrika.com/nagaur-news/accelerate-the-development-work-outlined-by-industrial-organizations-1-3153705/

District Industrial Advisory Committee सुवाणा पंचायत समिति के आटूण में ११ साल पहले २२ उद्यमियों को अविकसित औद्योगिक जमीन का आवंटन किया गया था। अब तक कब्जा नहीं मिला। पिछले माह जिला औद्योगिक सलाकार समिति की बैठक में भी इस मामले को रखा गया था। जिला कलक्टर ने कहा था कि जल्द जमीन दे दी जाएगी, लेकिन फाइल कलक्ट्रेट में अटकी हुई है।

 

६९ बीघा ४ बिस्वा
जिला उद्योग केन्द्र के अनुसार आटूण में कुल ६९ बीघा ४ बिस्वा भूमि उद्योगों के लिए आरक्षित की गई थी। इसमें ५७ भूखंड निर्धारित किए गए। वर्ष २००८-०९ में २२ उद्यमियों से कीमत लेकर ३० भूखंड आवंटित किए गए, लेकिन कब्जा नहीं दिया गया। माना जा रहा था कि यह जमीन नगर विकास न्यास पेराफेरी में आने से नहीं दी गई थी। सरकार के दखल से इसे मास्टर प्लान २०३५ में औद्योगिक भूमि दर्शाया गया था।

 

हर बार उठाते रहे मुद्दा
औद्योगिक सलाहकार समिति की बैठकों में चर्चा के बाद वहां झाडि़यों की सफाई करवाकर पत्थरगढ़ी करवाई गई थी। जिला प्रशासन ने इस क्षेत्र में नाले व विद्युत लाइन को लेकर आपत्ति जताई। इस पर डिस्कॉम ने ११ केवीए लाइन को हटावा दिया है। नाला भी किसी भूखंड के बीच नहीं आने की बात अधिकारियों ने लिखित में दे दी है। इसके बाद भी फाइल ठंडे बस्ते में है।

 


नही मिल रही जमीन
लम्बे समय से आटूण की जमीन उद्यमियों को देने की मांग करते आ रहे थे। इसकी राशि जमा है। उसके बाद भी कार्रवाई नहीं होने पर इस मामले को मैंने तो उठाना ही बन्द कर दिया है।
राजकुमार पोखरना, उद्यमी

 

एडीएम के पास भेजी है फाइल
औद्योगिक सलाहकार समिति की बैठक में आटूण के भूखंडों का कब्जा उद्यमियों को देने का निर्णय किया गया था। फाइल को अतिरिक्त जिला कलक्टर के पास भेजी है। वहां से कब्जा पत्र मिलने पर भूखंड दे दिए जाएंगे।
विपुल जानी, महाप्रबन्धक, जिला उद्योग केन्द्र