उदयपुर में हुई फायर‍िंंग में था 12 वीं के छात्र और उसके दोस्तों का हाथ, सोनीपत से लाए हथियार.. ज‍िसने भी सुना उड़ गए होश..

माेे. इल‍ियास/उदयपुर. लोयरा क्षेत्र के राठौड़ा का गुड़ा गांव में तीन दिन पहले मकान में फायरिंग 12वीं कक्षा के छात्र ने पिता की हत्या की आशंका में दोस्तों से करवाई थी। पुलिस ने छात्र सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया। आरोपी फायरिंग के लिए बकायदा आठ हजार रुपए में सोनीपत (हरियाणा) सिन्धू बॉर्डर से हथियार खरीदकर लाए।

एएसपी पारस जैन ने बताया कि राठौड़ा का गुड़ा निवासी रामसिंह पुत्र नाहरसिंह के मकान पर फायरिंग के मामले में राठौड़ा का गुड़ा सुखेर निवासी बारहवीं कक्षा के छात्र, झाड़ोल हाल बेदला निवासी तरुणसिंह पुत्र मनोहरसिंह राणावत व छोटा बेदला सुखेर निवासी मनीष पुत्र भगवानदास वैष्णव को गिरफ्तार किया। आरोपी छात्र ने पूछताछ में बताया कि उसके पिता लक्ष्मण की जमीन से रामसिंह ने आरा मशीन में आने-जाने का रास्ता बना रखा था। तीन साल पहले पिता ने रास्ता बंद कर दिया, जिससे आरा मशीन बंद हो गई। इसे लेकर रामसिंह से कई बार लड़ाई-झगड़ा भी हुआ। आरोपी छात्र का कहना है कि दो माह पहले अफवाह सुनी कि रामसिंह व भंवर गायरी मिलकर उसके पिता लक्ष्मणसिंह की हत्या कर देंगे। हत्या की इसी आशंका के चलते उसने दोस्त तरुण व मनीष के साथ मिलकर फायर किया। वारदात के बाद उपाधीक्षक स्वाति शर्मा के नेतृत्व में थानाधिकारी मोतीराम मय टीम ने तफ्तीश के बाद तीनों आरोपियों को अलग-अलग जगह से धर दबोचा। पूछताछ में बताया कि फायरिंग से पहले आरोपियों ने तीन-चार चक्कर लगाए। रामसिंह के घर पर नजर नहीं आने पर दहशत फैलाने के लिए मकान पर फायर कर फरार हो गए। पुलिस ने आरोपी छात्र के कब्जे से एक देसी कट्टा 315 बोर एवं वारदात में प्रयुक्त बाइक जब्त की। देसी कट्टा व कार्टिज खरीद फरोख्त करने वाले व्यक्ति एवं स्थान के बारे में पूछताछ जारी है।

 

READ MORE : यहां मदारी दिखा रहा था तमाशा , अचानक पहुंची रेस्क्यू टीम और क‍िया ये काम.. देखें वीड‍ियो


सोनीपत जाकर आठ हजार में लाए हथियार

आरोपी छात्र ने पिता की हत्या की आशंका में राम की हत्या की योजना बनाई। उसने अपने पूर्व सहपाठी तरुण व मनीष से सम्पर्क किया। दोनों के रजामंद होने पर वे हथियार के लिए हाइवे पर ही स्थित एक निजी होटल पर आकाश राजपूत से मिले। उसने हथियार खरीद की जानकारी देने के दो हजार रुपए लिए और उनसे सोनीपत में व्यवस्था करवाई। यहीं नहीं आरोपी छात्र ने अपने दोस्तों को सोनीपत आने-जाने का खर्चा देकर वहां भेजा। आरोपियों का कहना है कि सोनीपत में हाइवे पर ही एक ढाबे पर गए। कुछ देर बैठने के बाद स्कूटी पर हेलमेट लगाकर एक युवक आया। तरुण को वह स्कूटी पर बैठाकर एकांत में ले गया। वहां उसने कपड़े में लपेट कर एक देसी कट्टा व दो कारतूस दिए। इसके एवज में उसने 8 हजार रुपए लिए।