उदयपुर में रोड़वेज कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन, मांगेंं नहींं मानींं तो…करेंगे भूख हड़ताल

उदयपुर.रोड़वेज कर्मचारियेां ने 15 सूत्री मांगोंं को लेकर बुधवार को डीपो के बाहर धरना दिया और फिर कलेक्ट्रेट पहुंचकर मुख्यमंत्री के नाम कलक्टर को ज्ञापन सौंंपा। राजस्थान परिवहन निगम संयुक्त कर्मचारी फैडरेशन के आव्हान पर यह चरणबद्ध आंदोलन 17 अगस्त से चल रहा है। कर्मचारियों की ज्वलंत समस्याओं का निराकरण नहींं होने पर अब प्रदेश स्तर पर प्रदर्शन चलाए जा रहे हैंं। फैडरेशन के उदयपुर शाखा अध्यक्ष मोतीलाल ने बताया कि रोडवेज का अस्तित्व बचाने के लिए कार्यरत कर्मचारी और सेवानिवृत कर्मचारी पूरा सहयोग कर रहा है लेकिन सरकार और आगार प्रबंधक उनकी मांगोंं पर ध्यान नहींं दे रहा है। इसमें प्रमुख रूप से सातवां वेतनमान लागू करने,सेवानिवृत कर्मचारियों को बकाया परिलाभ जल्द देने,निगम की नई बसों की खरीद और भर्ती करने ,लोक परिवहन के नाम से संचालित बसों को बंद करने,कर्मचारियों की पास सुविधा बढाने,स्पेयर पार्ट खरीद जैसी मांगेंं शामिल हैंं। फैडरेशन के आव्हान पर जयपुर सिंधी कैम्प पर 4 सितम्बर को संभाग स्तरीय धरना दिया जाएगा उसके बाद 5 सितम्बर को जयपुर में प्रदेश स्तरीय रैली निकाली जाएगी। 6 से 12 सितम्बर तक जयपुर में क्रमिक अनशन शुरू किया जाएगा फिर भी मांगेंं नहींं मानींं तो 13 सितम्बर से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल शुरू कर दी जाएगी। फैडरेशन ने मुख्यमंत्री,परिवहन मंत्री,शासन सचिव एवं परिवहन आयुक्त और राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम के चैयरमेन के नाम कलक्टर को ज्ञापन सौंपकर त्रिपक्षीीय वार्ता आयोजन कर इन मांगों पर विचार करने की मांग की है।

 

READ MORE: एसएसयूआई की लड़ाई खुलकर सडक़ पर आई...फोन पर बात करने से बचते रहे जिलाध्यक्ष

 

बारिश में धुल गया छात्र संवाद

उदयपुर. सुखाडिय़ा विवि की ओर से मंगलवार को आयोजित छात्र संवाद बारिश में धुल गया। दोपहर एक बजे कार्यक्रम शुरू होना था, लेकिन दो बजे तक यहां केवल तीन छात्र पहुंचे। आयोजकों की संख्या भी गिनी-चुनी ही थी। कुछ आयोजकों ने तो यहां तक कह दिया कि छात्र प्रतिनिधि बोलना नहीं जानते इसलिए यहां आने से घबरा रहे हैं। पूरी व्यवस्थाएं धरी की धरी ही रह गई और कार्यक्रम नही हो पाया। कई मीडियाकर्मी समय पूर्व ही वहां पहुंचे, लेकिन तय समय के बाद भी आयोजन शुरू नहीं होने से लौट गए।