उदयपुर की नई कलक्टर ने पहली ही मी​टिंग में कहा कुछ ऐसा कि हो रही खूब चर्चा

धीरेन्द्र जोशी/उदयपुर . किसी भी समस्या के समाधान के बारे में ‘कार्रवाई की जा रही है’ शब्द नहीं लिखा जाए। यह मेरी डिक्शनरी में नहीं है, इससे मुझे गुरेज हैं। मुझे शिकायत और समस्या की प्रगति, कितने समय में कार्य होगा या समाधान नहीं होने की स्थिति में कारण स्पष्ट किया जाए। यह बात उदयपुर की नई कलक्टर आनंदी ने शुक्रवार को जिले के विभिन्न विभागों के अधिकारियों की पहली बैठक में कही। उन्होंने अधीनस्थ अधिकारियों से कहा कि कितने समय में कार्य होगा, यह भी जानकारी देवें। साथ ही कार्य नहीं हो सकने की स्थिति में उसका कारण भी बताएं।

 

READ MORE : लेकसिटी में कारों पर जमने लगी बर्फ, 2.8 डिग्री सेल्सियस पर पहुंचा रात का पारा

 

चौपाल से पहले हो समस्या समाधान
कलक्टर ने अधिकारियों से कहा कि पंचायत मुख्यालयों पर होने वाली ग्राम सभाओं और रात्रि चौपालों से दो दिन पूर्व अधिकारी गांवों में जाकर लोगों की समस्याएं सुने और उनका निस्तारण करें। बाद में होने वाली सभाओं और चौपालों में छोटी-मोटी समस्याएं सामने नहीं आनी चाहिए।

सीधी बात करें

कलक्टर ने अधिकारियों से अपने मोबाइल नंबर शेयर कर कहा कि प्रत्येक समस्या बेहिचक बताएं। ऐसा नहीं हो कि जिले की जानकारी जयपुर स्थित उच्चाधिकारियों से प्राप्त हो। अधिकारी -कर्मचारी सीधे संवाद करें।