इन मासूम बच्चों का क्या कसूर

प्रतापगढ़. जिला मुख्यालय स्थित कोर्ट परिसर में शुक्रवार को दो मासूम, जिनकी उम्र पांच साल से भी कम रही होगी, कभी अपने पिता तो कभी अपने अन्य रिश्तेदार की अंगुली पकडकऱ घूम रहे थे। उन मासूमों को नहीं पता था कि वे यहां क्यों है? उन्हें ये भी नहीं पता था कि उनके माता-पिता के बीच कोई झगड़ा चल रहा है? उन्हें यह भी नहीं पता था कि उनकी मां के साथ कुछ गलत काम हुआ है? वे सिर्फ मासूम होने की सजा भुगत रहे थे। ये बच्चे घंटाली थाना क्षेत्र के एक गांव की महिला के थे, जो शुक्रवार को अपने साथ हुए अत्याचार की रिपोर्ट दर्ज कराने शुक्रवार को जिला मुख्यालय आई थी। वह अपने वकील के साथ कोर्ट परिसर में आई थी। इस बीच ज्योंही उसके पति को भनक लगी कि उसकी पत्नी उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने आई है। वह भी पांच में से दो छोटे बच्चों के साथ यहां पहुंच गया।
मां को देखकर भी पास नहीं गए बच्चे : महिला के पांच बच्चे हैं, जो अभी उसके पति के पास ही है। इनमें से दो बच्चों के साथ पति एसपी कार्यालय आया। बच्चों की स्थिति अत्यंत दयनीय थी। उनके तन पर कपड़े तक पूरे नहीं थे। पति भी फटेहाल था। पति और उसके बच्चों से तंगहाली साफ झलक रही थी। महिला के पति के शरीर पर भी पूरे कपड़े नहीं थे। खास बात यह रही कि दोनों बच्चे मां को देखकर भी उसकी तरफ नहीं गए। न ही महिला ने बच्चों के प्रति कोई रूचि नहीं दिखाई। बच्चे अपने पिता और अन्य परिजनों के साथ ही घूमते रहे। बच्चे मासूम से इधर उधर घूमते रहे। इस बीच पीडि़त महिला के साथ आई एक अन्य महिला ने बच्चों को देखकर नाराजगी जाहिर की। उसने बच्चों के परिजन पर गुस्सा भी जाहिर किया कि वह उन्हें लेकर क्यों आए। महिला ने बताया कि उसके पांच बच्चे हैं। उनमें सबसे बड़ी बेटी 18 साल की है। उसके बाद दस और छह साल का बेटा, चार साल की बच्ची और सबसे छोटा बेटा दो साल का है। वह उसके ससुराल यानि पति के पास ही रहती है। पति और उसके परिजन शराब पीकर उससे मारपीट करते थे। इसलिए वह पीहर आकर रहने लग गई। उसने बताया कि घटना वाले दिन भी उसे पहले जंजीर से बाधा गया और उसके बाद सबने शराब के नशे में बलात्कार किया। जैसे तैसे वह उनके चंगुल से भाग कर पीहर आई।
पति ने कहा- झूठ बोल रही है पत्नी: महिला के पति ने भी एसपी कार्यालय में परिवाद पेश कर कहा कि उसकी पत्नी उस पर झूठा आरोप लगा रही है। उसने आरोप लगाया कि उसका ससुर रुपयों के लिए उसकी पत्नी को अन्य युवक को बेचने पर आमादा है। उस पर बलात्कार व जंजीरों से बांधने का झूठा आरोप लगाया है। उसने यहां एसपी कार्यालय में बताया कि महिला को उसके घर लेकर गए थे, लेकिन वह उसी रात वापस आ गई थी। बलात्कार जैसे आरोप झूठे हैं। पुलिस ने परिवाद को फिलहाल जांच में रखा है।
महिला को लेकर मौके पर पहुंची पुलिस:
एसपी कार्यालय पहुंचने पर पुलिस तुरंत एक्शन में आई। यहीं से महिला को पुलिस की गाड़ी से मौका मुआयना करने के लिए घटना स्थल घंटाली के लिए रवाना किया गया। बाद में पीपलखूंट के पुलिस उपअधीक्षक भी जांच के लिए मौके पर पहुंचे। पुलिस उपअधीक्षक देर रात तक पूछताछ में जुटे थे।