इनकी सांसें चल रही सहानुभूति से


प्रतापगढ़
थैलेसीमिया, एप्लास्टिक से ग्रसित बच्चों की जिंदगी रक्तादाताओं की सहानुभूति से ही आगे चल पाएगी। ऐसे में हमें इन बच्चों के लिए रक्तदान करना है, साथ ही अन्य लोगों को भी इसके लिए प्रेरित करना हैं। यह बात शनिवार को यहां जिला चिकित्सालय के सभागार में आयोजित थैलेसीमिया पर आयोजित कार्यशाला में ब्लड बैंक प्रभारी डॉ. ओपी दायमा ने कही। इस मौके पर प्रमुख चिकित्साधिकारी डॉ. आरएस कच्छावा ने इस रोग से प्रभावित बच्चों के प्रति सहृदयता दिखाने का आह्वान किया। इस मौके पर शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. धीरज सेन, दिलीप मीणा, बच्चे और अभिभावकों ने भी विचार व्यक्त किए। थैलेसीमिया प्रभावित बच्चों को रक्तदान करने से उन्हें नई जिंदगी मिलती है। इस बीमारी से पीडि़त बच्चों को बराबर बनी रहती है।

महिलाओं ने भी किया रक्तदान
रक्तदान शिविर में 36 यूनिट हुआ रक्तदान
पुलिस के जवानों ने भी किया रक्तदान
छोटीसादड़ी
उपखंड मुख्यालय पर अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर जीवन रक्षक सोसायटी की ओर से रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। सोसायटी के अशोक सोनी ने कि बताया कि शिविर में 36 यूनिट रक्तदान हुआ। रक्त संग्रहण जिला चिकित्सालय की टीम ने किया। शिविर में राधा पत्नी ललित टेलर ने अपनी शादी की वर्षगांठ पर रक्तदान शिविर में रक्तदान करने पहुंची। वहीं रतना पत्नी लीलाधर सोनी, सरस्वती साहू ने भी रक्तदान किया। रक्तदान शिविर में सीआई रविंद्रसिंह चौधरी और पुलिस जवान भी रक्तदान करने पहुंचे। पुलिस के सुरेन्द्र चौधरी, जयसिंह, महावीर राव, मनरूप मन्डा ने रक्तदान किया। इस मौके पर प्रदीप व्यास, कैलाश गिरी गोस्वामी, प्रवीण शर्मा, लोकेश रेगर, प्रदीप उपाध्याय, दिनेश गहलोत, अमन साहू, अरुण बलाई, राधेश्याम साहू आदि मौजूद थे।


फायर स्टेशन के नए टेलीफोन नम्बर शुरू
प्रतापगढ़
नगर परिषद में नवनिर्मित फायर स्टेशन में आगजनी की सूचना देने के लिए नए टेलीफोन नम्बर शुरू हो गए है। सहायक अग्निशमन अधिकारी रमेशचन्द्र पाटीदार व फायर इंचार्ज सावन चनाल ने बताया कि आगजनी की सूचना देने के लिए पूर्व में आमजन को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता था। जिसके निदान के लिए परिषद के कार्यवाहक आयुक्त विनोद मल्होत्रा व सभापति कमलेश डोसी के समक्ष नए टेलीफोन नम्बर की व्यवस्था करने के लिए मांग की गई थी। जिस पर नवीन फायर स्टेशन में नए टेलीफोन नम्बर को लगाया गया। जिसके नम्बर 01478-222411 है। साथ ही टोल फ्र ी नम्बर पुर्वानुसार 101 है। जिस पर भी आमजन आगजनी की सूचना दे सकते है।