आरोपी तो भाग गए,लेकिन पुलिस के हाथ कहां से लगी 18 मोटरसाईकिले


चित्तौडग़ढ़. जिले की पांच थानों की पुलिस और लाइन के भारीभरकम जाप्ते ने सोमवार को अल सुबह जरायमपेशा बाहुल्य चार बस्तियों पर एक साथ दबिश देकर 18 मोटरसाइकिल व एक ट्रेक्टर ट्रॉली जब्त की है। आरोपी पुलिस को गच्चा देकर भागने में सफल रहे।
बिजयपुर थाना प्रभारी रतनसिंह ने बताया कि अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विपिन शर्मा के नेतृत्व में वृताधिकारी गंगरार नरपतसिंह, बिजयपुर, बस्सी, गंगरार, चंदेरिया, कनेरा, पुलिस लाइन तथा वृत्त कार्यालय गंगरार के पुलिस जाप्ते सहित सत्तर से अधिक पुलिस जाप्ता सोमवार को तड़के पांच थानों की जीपों, पुलिस लाइन की बस से बिजयपुर पहुंचा। पुलिस अधिकारियों व जाप्ते ने पैदल मार्च करते हुए मोती मंगरी, धागलियों का खेड़ा, दुधीतलाई व कंजर बस्ती पर एक साथ दबिश दी। दबिश के बारे में आपराधिक प्रवृति के बदमाशों को भनक लग जाने से वे संदिग्ध मोटरसाइकिलें व ट्रेक्टर ट्रॉली लेकर भागे, लेकिन पुलिस ने चारों तरफ से घेराबंदी कर रखी थी। ऐसे में आरोपी वाहन छोड़कर भारी भरकम पुलिस जाप्ते और अधिकारियों को गच्चा देते हुए पैदल ही जंगल की तरफ भाग छूटे। इनकी तलाश और धर-पकड़ के लिए पुलिस जाप्ते को जंगल की तरफ भेजा गया। पुलिस ने सर्च अभियान चलाते हुए १८ मोटरसाइकिल व ट्रेक्टर ट्रॉली जब्त की है। इन वाहनों के इंजन नम्बर, चैसिस नम्बर के आधार पर असली वाहन मालिकों का पता लगाया जा रहा है।
डेरों के पास मिला महुए का वॉश
पुलिस को दबिश के दौरान जरायमपेशा लोगों के डेरों के आसपास भारी मात्रा में महुए का वॉश भी मिला, जिसे पुलिस जाप्ते ने नष्ट कर दिया। पुलिस का दावा है कि कंजर बस्ती में लगातार दबिश और घेराबंदी से अधिकांश बदमाशों की पहचान हो गई है, जिन्हें नामजद कर आपराधिक रिकार्ड एकत्रित किया जा रहा है।इधर, पुलिस की इस कार्रवाई से क्षेत्र में अपराधियों में हड़कंप मच गया। कई अपराधी किस्म के लोग पुलिस कार्रवाई के दौरान गायब हो गए।