आयड़ नदी के उद्धार को लेकर यह सोचते हैं उदयपुर विधानसभा के प्रत्याशी….

मुकेश हिंगड़/उदयपुर. विधानसभा चुनाव की तस्वीर अब पूरी तरह से साफ हो चुकी है, प्रत्याशी रात दिन जी जान से चुनाव प्रचार में जुट गए हैं। नेता लोगों के घर-घर पहुंच वोटो के लिए नतमस्तक हो रहे हैं। ऐसे में आपके लिए ये जानना जरूरी होगा कि कौन प्रत्याशी आपके इलाके की समस्याएं कब और कैसे दूर करेगा। इसी नजरिए से यहां पढि़ए शहर विधानसभा क्षेत्र का प्रमुख मुद्दा और उन पर प्रत्याशियों का नजरिया। ये वहीं मुद्दे हैं जो राजस्थान पत्रिका के जन एजेंडा बैठकों में जनता ने सामने रखा हैं।

— गुलाबबाग जैसा एक बड़ा पार्क हरियाली के लिए शहर में बनाए जाए। वैसे तो यह कार्य हर दिशा और नए विकसित क्षेत्र में तो पहले से ही जगह आरक्षित की जाए।
— पानी की समस्या वाले वार्डोँ की समस्या का स्थायी समाधान निकाला जाए।
— स्मार्ट सिटी के नाम पर कैमरे तो लगा दिए लेकिन सुरक्षा के नाम पर वे कैमरें दिखावटी साबित हो रहे है, कुछ करें।
— देवास तृतीय व चतुर्थ प्रोजेक्ट पर कागज चलाने की बजाय अब काम करके बताए।


डॉ. गिरिजा व्यास
— आयड़ सड़ रही है, इसको सबसे पहले साफ किया जाएगा।
— हर समय पानी भरा रहे, आकर्षण का केन्द्र बनाएंगे।
— एक पर्यटन क्षेत्र के रूप में आयड़ विकसित करेंगे, बात नहीं हकीकत में काम करेंगे।


गुलाबचंद कटारिया
— आयड़ की सफाई व सीमांकन करवा दी है, चारदीवार का पैसा दे दिया।
— अब वहां 11 किलोमीटर तक पानी भरा रहे यह प्रोजेक्ट पूरा करेंगे, इसी के तहत छह एनीकट बनाए।
— आयड़ पर्यटन केन्द्र बना देंगे।

 

READ MORE : VIDEO : राहुल गांधी की शादी का किया सवाल, स्मृति ईरानी खूब हंसी !

 

दलपत सुराणा
— प्राथमिकता यह रहेगी कि सबसे पहले नदी में पानी की व्यवस्था की जाएगी।
— वेनिस से पहले तो एक बार इसके किनारे बगीचे बनाकर इसका विकास करेगा।
— अतिक्रमण सहित जो अधूरे काम पड़े है उनको पूरा करेंगे।

प्रवीण रतलिया
— आयड़ बहने लग जाती है तो आसपास का क्षेत्र विकसित होगा। बड़ा काम करेंगे।
— चार हजार साल पुरानी नदी के नाम से यह ऐतिहासिक धरोहर को पर्यटन केन्द्र बनाएंगे,
— पर्यटक आएंगे तो रोजगार भी मिलेगा।

भरत कुमावत
— आयड़ में जितने अतिक्रमण को चिन्हि़त कर कार्रवाई करेंगे।
— पूरी नदी में पानी बहता रहे, ऐसा प्रयास करुंगा।
— गार्डन विकसित करते हुए मछलियां छोड़ी जाए, केमिकल का बहाव रोकेंगे।