आफत की बारिश थमी, मर्ज बढ़ा

भीलवाड़ा।
medical Department बारिश थमने के बाद पारे में आए उतार चढ़ाव ने अस्पतालों पर भार बढ़ा दिया है। एमजीएच समेत कई अस्पतालों में मरीजों की कतारें लगी है। हर दूसरे घर में सर्दी, जुकाम, खांसी, बुखार के मरीज मिल रहे हैं। एमजीएच के आउटडोर में रोजाना औसतन दो हजार मरीज पहुंच रहे हैं। अभी डेंगू का खतरा और फिर ठंड बढऩे पर स्वाइन फ्लू से चुनौती मिलेगी। शहर में डेंगू के दो पॉजीटिव मरीज सामने आए। एंटी लार्वा गतिविधियां मंद पडऩे से डेंगू के मरीज बढ़ रहे हैं। चिकित्सा विभाग शुक्रवार से तीन दिन तक शहर के २७ स्थानों का सर्वे करेगा और फोगिंग कराएगा। इस बीच, डॉक्टरों का कहना है कि पारा गिरने लगा है। इसके चलते 15 दिन में डेंगू का प्रभाव कम हो जाएगा।

medical Department डिप्टी सीएमएचओ घनश्याम चावला ने बताया कि ठंडी हवा चलने से तापमान गिरने लगा है। अभी जिले में स्वाइन फ्लू के मरीज सामने नहीं आए लेकिन सभी चिकित्साकर्मियों को अलर्ट किया है। जैसे ही पारा गिरेगा। स्वाइन फ्लू की चुनौती बढ़ेगी। इसे लेकर विभाग सतर्क है। चावला ने बताया कि शहर के ९ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के २७ स्थान चुने गए हैं। इन क्षेत्रों के सर्वे के लिए २०० सरकारी व गैर सरकारी स्वास्थ्यकर्मी लगाए गए हैं। ९ वाहन व नगर परिषद के सफाई कर्मी भी टीम में शामिल हैं।

इन क्षेत्रों में सर्वे
शुक्रवार को बिलिया खुर्द, वार्ड ४८, मारुति कॉलोनी, कच्ची बस्ती, कोली पाड़ा, वार्ड १८, गांधीनगर, शास्त्रीनगर का सेक्टर ए तथा माणिक्य नगर में सर्वे होगा। शनिवार को जवाहर नगर के गोसी मोहल्ला, वार्ड २, ४, १७ व ४७, सांगानेर के कीर खेड़ा, झूल्हा बस्ती १ व २, श्यामनगर, शास्त्रीनगर सेक्टर बी व सी तथा वकील कॉलोनी में सर्वे होगा। सोमवार को लेबर कॉलोनी, धांधोलाई, संजय कॉलोनी, दादाबाड़ी, नया पटेलनगर, राम नगर, पंचवटी तथा हरीजन बस्ती में सर्वे होगा। टीम सुपरवाइजर तरूण चाष्टा, चन्द्रदेव आर्य, डॉ. सुरेश चौधरी होंगे।