आउट सोर्स कर्मचारी वर्तमान वेतन में काम करने को तैयार पर ठेका प्रणाली बंद हो

मेवाड़ किरण @ नीमच -

बिजली कंपनी की आउटसोर्स कर्मचारियों की रविवार को गांधी हाल इंदौर में बैठक संपन्न हुई जिसमें प्रदेश के सहित कई जिलों के पदाधिकारी व सदस्य उपस्थित हुए सभी ने बैठक मे सर्वसम्मति से तय किया गया कि सभी कर्मचारी कंपनी में वर्तमान वेतन पर ही काम करेंगे चाहे कर्मचारियों को छोटा पद ही दे दिया जाए लेकिन ये ठेका प्रणाली बंद होनी चाहिए मध्य प्रदेश बिजली आउटसोर्स कर्मचारी संगठन के प्रांतीय संयोजक मनोज भार्गव व प्रदेश अध्यक्ष श्री राजपूत ने बताया कि 6 फरवरी को वल्लभ भवन भोपाल में तीन मंत्रियों की मौजूदगी में मंत्री बाला बच्चन ने कहा था कि सरकार बिना खर्च वाले गैर वित्तीय कार्य करने संबंधित आउट सोर्स के कर्मचारियों की मांगे पूरी करने के लिए प्रतिबद्ध है और उन्होंने बताया कि संगठन का मत है कि सरकार बिजली कंपनियों में कार्य करने वाले कर्मचारियों को ठेकेदारों के स्थान पर सीधे कंपनी से वेतन देने संबंधित आदेश जारी करें जिससे कर्मचारियों को बड़ी राहत मिलेगी और वर्तमान में ठेकेदारों का वेतन राशि के बारह सौ करोड रुपए के अलावा पांच प्रतिशत राशि ठेकेदारों के कमीशन के रूप में साठ करोड़ तथा अट्ठारह प्रतिशत जीएसटी के रूप में दो शो सोलह करोड़ अनावश्यक खर्च करना पड़ रहे हैं सीधा कर्मचारियों को वेतन देने से सरकार को करोड़ों रुपए की बचत होगी इंदौर में आयोजित बिजली आउटसोर्स संगठन की बैठक में बड़ी संख्या में संगठन के सदस्यों व कर्मचारियों ने भाग लिया यह उक्त जानकारी आउट सोर्स संगठन जिला नीमच के अध्यक्ष रमेश गरासिया, उपाध्यक्ष शिव लाल गुर्जर व कोषाध्यक्ष शिव लाल धनगर ने दी।

Source : Apna Neemuch