अब मोबाइल एप से होगी बिजली बिलों की मॉनिटरिंग, बदलेंगे सभी पुराने मीटर

भीलवाड़ा।

शहरी क्षेत्र के 85 हजार बिजली उपभोक्ताओं के बिलों की रीडिग अब ऑनलाइन होगी। इसके लिए अजमेर डिस्कॉम मोबाइल एप का उपयोग करेगा। नई व्यवस्था से पहले शहर के सभी पुराने मीटर (चकरी वाले) बदल दिए जाएंगे। अजमेर विद्युत वितरण निगम के अधीक्षण अभियंता के एस सिसोदिया ने बताया कि नई व्यवस्थेा के तहत शहर की बिजली आपूर्ति व्यवस्था बनाए रखने और बिजली के बिलों की वसूली का जिम्मा सरकार ने अनुबंधित कम्पनी सिक्योर मीटरर्स को दे रखा है।

 

अनुबंधित शर्तो के आधार पर शहर में 85 हजार से अधिक के पुरानी पद्दति के मीटर को बदलते हुए उन्हें नए मीटर लगाना होगा। ये नए मीटर कम्प्यूटरीकृत होंगे और इन मीटरों का सीधा कनेक्शन सिक्योर कम्पनी से होगा। मीटर लगाने के शुरूआती दिनों में इसकी रीडिंग ली जाएगी। सम्बन्धित आवास की स्थिाति व बिजली खपत का आंकड़ा डिवाइस में फीड किया जाएगा। इसके बाद मीटर की रीडिग स्वत: कम्पनी के डिवाइस में दर्ज हो जाएगी।

 

उन्होंने बताया कि नई व्यवस्था शहर में सभी उपभोक्ताओं के मीटर बदले जाने के बाद ही एक समान रूप से लागू होगी।
नई मीटरिंग व्यवस्था से यूनिट व तय टैक्स के आधार पर ही उपभोक्ताओं को बिल मिलेगा। किसी को बिल में गड़बड़ी की शिकायत होने पर उसे उपभोक्ता को उसकी बिजली खपत का लेखा जोखा भी देखने को मिल सकेगा। सिक्योर के स्थानीय प्रबंधक अमित माथुर ने बताया कि शहर में फिलहाल खराब मीटर बदलने का कार्य किया जा रहा है, जल्द ही शहर के पुराने मीटर बदलने का कार्य किया जाएगा।

 

 

जून माह के बिल नहीं मिलने से कॉलोनिवासियों में रोष

शहर की सबसे बड़ी कॉलोनी पटेलनगर क्षेत्र में जून माह के बिल वितरित नहीं करने पर सिक्योर कंपनी के खिलाफ पटेलनगरवासियों ने रोष जताया है। कॉलोनिवासियों का कहना है कि उपभोक्ताओं को हर माह बिल भेज दिए जाते है। इस माह सिक्योर कंपनी ने बिजली के बिल नहीं भेजे और बिल का पैसा वसूल लिया। 11 पी सैक्टर में एक भी उपभोक्ता को बिजली का बिल नहीं मिला। कॉलोनिवासियों ने बिल नहीं भेजने पर कंपनी के खिलाफ धरना प्रदर्शन की चेतावनी दी है।