अप्रैल माह में होना था कार्य प्रारंभ, तीन माह का हो गया विलम्ब

मेवाड़ किरण@नीमच -

नीमच. डेढ़ साल से जिस अंडरब्रिज निर्माण कार्य के शुरू होने का हजारों लोगों को इंतजार था अंतत: मंगलवार से उस कार्य की शुरूआत हो गई। आगामी दो-तीन दिन में कार्य भी प्रारंभ हो जाएगा। 24 घंटे में से औसत 5 घंटे रेलवे फाटक बंद रहता है। इससे उपनगर बघाना जाने वाले लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। अंडरब्रिज बनने से करीब 35 हजार लोगों को इसका लाभ मिलेगा।
स्कूल जल्दी पहुंचने के चक्कर में लेते हैं बच्चे रिस्क
जिला मुख्यालय से राजस्थान जाने के लिए उपनगर बघाना में से होकर ही जाना पड़ता है। ऐसे में अंडरब्रिज और रेलवे फाटक दो विकल्प है। अंडरब्रिज से छोटे चार पहिया वाहन ही निकल सकते हैं। रेलवे फाटक से होकर भी बड़े व भारी वाहन निकलते हैं। जब से ब्राडगेज लाइन शुरू हुई है इस रूट पर मालगाडिय़ों की आवाजाही काफी बढ़ गईहै। इस कारण सवारी गाडिय़ों की तुलना में मालगाडिय़ों की संख्या काफी बढ़ गई है। बघाना क्षेत्र के रहवासियों ने बताया कि रेलवे स्टेशन से सुबह 5 से रात 8 बजे तक प्रत्येक आधे घंटे में औसत एक ट्रेन गुजरती है। इन 15 घंटों में 15 पैसेंजर और मालगाडिय़ां अप और डाउन रूट पर गुजरती है। इस दौरान रेलवे फाटक बंद रहता है। जब भी टे्रन गुजरती है कम सेक कम 10 से 12 मिनट रेलवे फाटक बंद रहता है। इस कारण बघाना क्षेत्र से शहर में आने वाले लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। कई बार स्कूल के समय भी रेलवे फाटक बंद होने से अप्रिय स्थिति निर्मित होते देखी गई है। जल्दी स्कूल पहुंचने के चक्कर में छोटे बच्चे साइकिल लेकर ही रेलवे फाटक पार करने लगते हैं। इससे परिजनों को भी बच्चों की चिंता लगी रहती है। राजस्थान जाने वाले भारी वाहनों की वजह से फाटक बंद रहने की स्थिति में दोनों ओर लम्बी लाइन लग जाती है। इससे बघाना जाने वाले लोगों को भी परेशानी झेलना पड़ती है। इन्हीं समस्याओं के समाधान के लिए लम्बे समय से बघाना क्षेत्र की जनता रेलवे फाटक पर फुटओवर ब्रिज बनाने के साथ ही अंडरब्रिज के जीर्णोद्धार की मांग कर रही थी।
15 फीट चौड़ा बनेगा अंडरब्रिज
पिछले डेढ़ साल से अंडरब्रिज निर्माण को लेकर प्रयास किए जा रहे थे। मार्च 2016 को नगरपालिका ने अंडरब्रिज निर्माण को लेकर प्र्रस्ताव परिषद में पारित किया था। इसके बाद से इस कार्य ने तेजी पकड़ी। रेल मंत्रालय से पत्र व्यवहार किए गए। रेलवे से अंडरब्रिज निर्माण की अनुमति मिलने के बाद समस्या राशि को लेकर आई। फिर निर्णय हुआ कि अंडरब्रिज का निर्माण रेलवे करवाएगा, लेकिन इसके निर्माण में होने वाला खर्च नगरपालिका परिषद उठाएगी। पिछले साल ही नगरपालिका की ओर से रेलवे को अंडरब्रिज निर्माण पर होने वाले खर्च 2 करोड़ 63 लाख रुपए का भुगतान कर दिया था। इस राशि से 10 फीट ऊंचा और 15 फीट चौड़ा अंडरब्रिज का निर्माण किया जाएगा। यह निर्माण रेलवे फाटक क्रमांक 120 पर होगा। अप्रैल 2018 में अंडरब्रिज निर्माण कार्य प्रारंभ होना था, लेकिन किन्हीं करणों से नहीं हो सका। मंगलवार को इस कार्य की शुरूआत हुई। दो-तीन दिन में निर्माण कार्य प्रारंभ हो जाएगा।
दो-तीन दिन में शुरू हो जाएगा कार्य
अंडरब्रिज निर्माण में करीब 2 करोड़ 63 लाख रुपए की लागत आएगी। नगरपालिका की ओर से यह राशि रेलवे विभाग को काफी पहले जमा करा दी गई है। मुझे जानकारी मिली है कि मंगलवार को रेलवे अंडरब्रिज निर्माण के लिए लाइनिंग कर दी गई है। दो-तीन दिन में निर्माण कार्य भी प्रारंभ हो जाएगा। बार बार रेलवे फाटक बंद होने से लोगों को होने वाली परेशानी से छुटकारा भी मिलेगा। अंडरब्रिज बनने से करीब 35 हजार लोगों लाभांवित होंगे। आगामी ४ माह में अंडरब्रिज बनकर तैयार हो जाएगा।
- राकेश पप्पू जैन, नपाध्यक्ष