अधिकारी चुनाव में व्यस्त, अतिक्रमी कब्जा रहे सरकारी जमीन

देवगढ़. नगर के रोडवेज बस स्टैण्ड सहित अन्य स्थानों पर अवैध रूप से केबिन रख किए जा रहे अतिक्रमण को लेकर एसडीएम केआर चौहान ने द्वारा दिए आदेशों की पालना नहीं हो पाई है। एसडीएम ने सोमवार को 24 घण्टे में अवैध केबिनों को हटाने के निर्देश नगर पालिका को दिए थे। नगर में सरकारी जमीनों एवं नालों पर केबिन रखकर उसकी आड़ में किए जा रहे कब्जों को लेकर हुई शिकायतों व राजस्थान पत्रिका में प्रकाशित खबरों के बाद एसडीएम चौहान ने गत सोमवार को मौका देखा था। इस दौरान उन्होंने पालिका के अधिकारियों को 24 घण्टे में केबिनों सहित सभी अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए थे। इसके बाद उसी दिन पालिका के अधिकारियों ने अवैध केबिन धारकों को अतिक्रमण हटा लेने की हिदायत भी दी थी। लेकिन, मामले में कार्रवाई अब तक नहीं हो पाई है।

चारनिया गांव में बेशकीमती चरनोट की भूमि पर हो रहे अतिक्रमण
देवगढ़. नगर के समीप विजयपुरा पंचायत के चारनिया गांव में पिछले कुछ समय से आचार संहिता की आड़ में चरनोट की जमीन पर ग्रामीणों द्वारा अतिक्रमण किया जा रहा है। देवगढ़ तहसील में प्रशासनिक अधिकारियों की अनदेखी के चलते अतिक्रमण करने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। जहां देखो वहां अतिक्रमण किए जा रहे हैं, जिसमें ग्रामीण से लेकर नगरीय क्षेत्र तक शामिल है। पिछले लंबे समय से कई गांवों में अतिक्रमण को लेकर ग्रामीणों की ओर उपखण्ड को शिकायतें की गई, लेकिन कोई ठोस कार्यवाही नहीं हुई। इसके चलते अतिक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। इसी कड़ी में विजयपुरा पंचायत के अधीन आने वाले चारनिया गांव की बेशकीमती चरनोट की भूमि पर कई ग्रामीणों द्वारा अतिक्रमण कर लिए गए हैं। इसके साथ ही कुछ ने तो वहां पक्के निर्माण भी शुरू करवा दिए हैं। कई ने टीनशेड लगाकर अतिक्रमण कर रखे हैं। लेकिन, चुनाव के दौर में अधिकारियेां द्वारा भी इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा।
सरकारी, बिलानाम नाले की जमीन पर अतिक्रमण
कुंभलगढ़. मेघवालों का वास के ग्रामीणों ने कुंभलगढ़ तहसीलदार को लिखित में शिकायत पेश कर सरकारी बिलानाम नाले की जमीन पर हो रहे अवैध कब्जे की शिकायत की है।
ग्रामीणों ने शिकायत में बताया कि केलवाड़ा आमेटा का वास स्थित मेघवालों के वास में पहाड़ो से बारीश के पानी का नाला गुजरता है। वहां एक प्राचीन राड़ाजी का स्थान भी है। यहां नाले के पास वाली बिलानाम जमीन पर एक व्यक्ति द्वारा अवैध कब्जा कर निर्माण करवाया जा रहा है। इसकी सूचना पूर्व में विकास अधिकारी को भी दी, जिन्होने मौके पर पहुंचकर कार्य भी रुकवाया व नोटिस चस्पा किया, लेकिन कुछ दिनों बाद उक्त प्रभावशाली व्यक्ति ने पुन: निर्माण शुरू करवा दिया है। इसको लेकर ग्रामीणों ने तत्काल स्यायी रूप से कार्रवाई की मांग की ैहै।